policemen

सरेराह पुलिवाले ने ऑटो चालक के सीने पर रखा जूता और…

उत्तर प्रदेश पुलिस (police) का स्लोगन ‘मित्र पुलिस’ गरीबों पर जरा भी फिट नहीं बैठता। सूबे की मित्र पुलिस तो गरीबों को बूटों तले रौंदती है। लखनऊ का यह प्रकरण देखकर अंग्रेजों के शासनकाल की यादें जीवंत हो गई है।

रहगीर ने बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया

लखनऊ की सड़क पर चंद रोज पहले सड़क पर मित्र पुलिस का नायाब अंदाज देखने को मिला। यूपी पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है, जहां एक सिपाही बीच सड़क पर ऑटो चालक की पिटाई करता दिखा। उत्तर प्रदेश पुलिस की इस थर्ड डिग्री का वीडियो वहां मौजूद किसी रहगीर ने बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया, जो देखते ही देखते वायरल हो गया।

जिसे तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है

इस वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस महकमे में खलबली मच गई। मामला सामने आने के बाद आनन फानन में एसएसपी ने घटना की जांच सीओ अलीगंज को सौंपी है। आरोपी सिपाही की पहचान आनंद प्रताप सिंह के रूप में हुई है, जिसे तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है। आरोपी सिपाही मंडियाव थाने की पीआरवी नंबर 495 में तैनात है।

Also Read :  काशी में लगे राहुल गांधी और सिद्धू के विवादित पोस्टर

वीडियो 22 की रात जानकीपुरम इलाके के इंजीनियरिंग कॉलेज चौराहे का है, जहां ऑटो की टक्कर से किसी को चोट लग गई थी।

पुलिसकर्मी उसकी बीच सड़क पर लात-घूंसे से पिटाई

इसकी सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे पीआरवी में तैनात पुलिस कर्मियों ने ऑटो चालक की पहले जमकर पिटाई करते हुए सीने पर पैर तक रख दिया।इस दौरान ऑटो चालक पुलिसकर्मियों के आगे गिड़गिड़ाता रहा, लेकिन पुलिसकर्मी उसकी बीच सड़क पर लात-घूंसे से पिटाई करते रहे।

पुलिस कर्मियों पर बड़ी कार्रवाई हो सकती है

फिलहाल वीडियो वायरल होने के बाद पीआरवी में तैनात पुलिस कर्मियों की पहचान हो गई है.। पुलिस के अधिकारी पूछताछ में जुटे है। सीओ अलीगंज की जांच रिपोर्ट के बाद इन पुलिस कर्मियों पर बड़ी कार्रवाई हो सकती है।साभार

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)