shailaza

कॉमन फ्रेंड की टाइमलाइन पर पहली बार मेजर ने देखी थी शैलजा की तस्वीर

भारतीय सेना के एक मेजर की पत्नी शैलजा द्विवेदी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार मेजर निखिल राय हांडा के बारे में पुलिस ने नई जानकारी सामने रखी है। पुलिस के मुताबिक सेना में मेजर हांडा के ज्यादा दोस्त नहीं थे। हालांकि वह फेसबुक पर काफी सक्रिय रहते थे और इसी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर वह 2015 में शैलजा के संपर्क में आए।

मेजर द्विवेदी और हांडा के बीच सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था

पुलिस के अनुसार अपने एक कॉमन फ्रेंड की टाइमलाइन पर पहली बार मेजर हांडा ने शैलजा की तस्वीर देखी थी। मामले की जांच कर रहे अधिकारियों का दावा है कि इसके बाद हांडा ने शैलजा के पति मेजर अमित द्विवेदी से दोस्ती की, जिससे वह उनके घर पर होनेवाली पार्टियों में शामिल हो सकें। वह नगालैंड में द्विवेदी के घर अक्सर आते-जाते रहते थे। मेजर द्विवेदी और हांडा के बीच सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था जबतक कि पति ने हांडा और अपनी पत्नी के बीच विडियो कॉल को नहीं देखा।

मेजर हांडा का करियर ढलान पर आ गया

पुलिस ने बताया कि विडियो देखने के बाद मेजर द्विवेदी ने हांडा से दोबारा घर नहीं आने को कह दिया। पुलिस का दावा है कि आर्मी में कुछ साल के बाद मेजर हांडा का करियर ढलान पर आ गया। उनका आखिरी दो साल पूरी तरह से इस कोशिश में बीता कि कैसे भी शैलजा का उसके पति से तलाक हो जाए और वह उसके साथ नई जिंदगी शुरू कर सकें।

पुलिस का दावा है कि शैलजा को राजी करने के लिए उन्होंने अपनी पत्नी के साथ विवाद की कई पटकथाएं लिखीं जिससे उसे (शैलजा) लगने लगे कि उसकी शादी में सब ठीक-ठाक नहीं है। दिल्ली पुलिस के एक सूत्र ने दावा किया, ‘उन्होंने बताया कि वह अपनी शादीशुदा जिंदगी से परेशान थे और मजबूरन ऐसी स्थिति में आ चुके थे जिसमें शैलजा को खत्म करने के अलावा उन्हें कोई दूसरा विकल्प नहीं सूझ रहा था।’

Also Read :  अगर निकल रही है आपकी तोंद तो जरूर पढ़े

मेजर हांडा की पत्नी ने पुलिस को बताया कि कुछ दिनों तक उन्हें अपने पति पर शक हुआ था लेकिन आमने-सामने बात हुई तो पति ने उन्हें अपनी बातों से मना लिया। पुलिस ने कहा कि पत्नी ने बताया कि उन्हें अपने पति पर पूरा भरोसा था। हांडा की पत्नी ने पुलिस को बताया, ‘हम दोनों में कुछ भी गलत नहीं था। हमारी एक खुशहाल फैमिली थी।’

हांडा ने रजत को सब कुछ बता दिया था

हांडा के पिता पूर्व मर्चेंट नेवी ऑफिसर हैं और एक कजिन सेना में अफसर है। पुलिस ने बताया कि हांडा अपने भाई रजत के काफी करीब था। वही एक ऐसे शख्स थे जो हांडा के बारे में सबकुछ जानते थे। शैलजा को मारने के बाद हांडा ने रजत को सब कुछ बता दिया था। पुलिस ने बताया, ‘उन्होंने पहले अपने भाई को फोन कर पूछा कि क्या वह घर पर हैं क्योंकि वह किसी जरूरी काम से उनसे मिलना चाहते हैं। इसके बाद वह फौरन उनके पास पहुंचा और बताया कि उन्होंने शैलजा की हत्या कर दी है और उन्हें कुछ दिनों के लिए कुछ पैसों की जरूरत है। हांडा ने हफ्तेभर में पैसा लौटाने की बात कही थी लेकिन वह 24 घंटे में ही गिरफ्तार हो गए।’

एक हफ्ते पहले उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी

मेजर हांडा 2013 से 2015 तक श्रीनगर में तैनात थे और उसके बाद दीमापुर में दो साल तक रहे थे। माइग्रेन का इलाज करने के लिए वह दिल्ली आए थे और 9 जून को उन्हें दिल्ली कैंट के बेस हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। एक हफ्ते पहले उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। मेजर हांडा का बेटा भी इस समय अस्पताल में है, जिसका पेट में संक्रमण का इलाज चल रहा है। शैलजा की कथिततौर पर हत्या के बाद वह अस्पताल में अपनी पत्नी और बेटे से भी मिले थे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)