पटना: लोगों के गुस्से का डर, हेल्मेट पहनकर प्याज बेच रहे कर्मचारी

प्याज की बढ़ती कीमतों के बीच लोगों के गुस्से का शिकार न होना पड़े, इसलिए पटना में राज्य सहकारी मार्केटिंग यूनियन लिमिटेड के कर्मचारियों ने हेल्मेट पहनकर प्याज कम कीमत पर शुरू कर दिया है।
प्याज की कीमतों के तेजी से बढ़ने के साथ ही लोगों का गुस्सा भी बढ़ता जा रहा है।

बिहार में उठाया गया नायाब कदम

बिहार राज्य सहकारी मार्केटिंग यूनियन लिमिटेड के कर्मचारी हेल्मेट पहनकर कम कीमत पर प्याज बेच रहे हैं।
पटना में आम लोग कई घंटों तक मोबाइल आउटलेट्स के सामने खड़े रहे ताकि 35 किलो रुपये में प्याज खरीद पाएं।

पटना में बढ़ा लोगों में गुस्सा

प्याज की कीमतों के तेजी से बढ़ने के साथ ही लोगों का गुस्सा भी बढ़ता जा रहा है।
इसी से डरते हुए बिहार राज्य सहकारी मार्केटिंग यूनियन लिमिटेड के कर्मचारियों ने हेल्मेट पहनकर बाजार में मौजूदा भाव से कम कीमत पर प्याज बेचना शुरू कर दिया है।
ताकि उन्हें लोगों का गुस्सा न झेलना पड़े।
लोग कई घंटों तक मोबाइल आउटलेट्स के सामने खड़े रहे ताकि 35 किलो रुपये में प्याज मिल सके।

कर्मचारियों को डर

कर्मचारियों को डर था कि उन्हें लोगों के गुस्सा का शिकार होना पड़ सकता है और प्रशासन ने उन्हें कोई सुरक्षा भी उपलब्ध नहीं कराई थी।
हालांकि, प्याज की कमी नहीं थी।
लेकिन एहतियात के तौर पर कर्मचारी हेल्मेट पहनकर चले गए।
लोगों से बात कर रहे रोहित कुमार ने बताया, ‘हमने हेल्मेट पहने थे क्योंकि हमें अपनी सुरक्षा की चिंता थी।
एक दिन पहले आरा में लोगों की पत्थरबाजी में कई लोग घायल हो गए थे। प्रशासन ने सुरक्षा नहीं दी है।’

जान को खतरा

रोहित लोगों को समझा रहे थे कि प्याज की कमी नहीं है।
एक अन्य कर्मचारी मनीष ने बताया, ‘आप भीड़ देख रहे हैं। हमारी गाड़ियां हर कॉलोनी में जाकर प्याज दे रही हैं, लेकिन हमारी जान को खतरा है।’
प्याज लेने के लिए लाइन में खड़े लोग तड़के से इंतजार कर रहे थे।
शीला देवी नाम की महिला ने बताया, ‘मैं यहां सुबह 4 बजे से हूं।
प्याज का बाजार में दाम 80-100 रुपये किलो है, लेकिन यहां 35 रुपये में मिल रही है।’