जानें पाकिस्तान के F-16 से कितना ताकतवर है भारत का राफेल

विजयादशमी और भारतीय वायुसेना दिवस के मौके पर भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ गई। लंबे इंतजार के बाद आखिरकार अत्याधुनिक लड़ाकू विमान ‘राफेल’ वायुसेना के बेड़े में शामिल हो गया।

खुद रक्षा मंत्री राजना​थ सिंह ने राफेल में उड़ान भरी। भारत ने 59 हजार करोड़ रुपए की लागत से 36 राफेल लड़ाकू विमानों के लिए सितंबर 2016 में फ्रांस के साथ समझौता किया था। ये सभी विमान सितंबर 2022 तक मिल जाने की उम्मीद है।

पाकिस्तान के एफ-16 से ज्यादा ताकतवर है राफेल-

राफेल पाकिस्तान के एफ-16 से अधिक आधुनिक तकनीक है। रडार से बचने के मामले में एफ-16 से कहीं ज्यादा बेहतर है राफेल।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर राफेल को इस मामले में 10 में से 9 रेटिंग मिली है जबकि एफ-16 को 10 में से 7.8 रेटिंग ही मिली।

एफ-16 से राफेल कहीं अधिक आधुनिक और ताकतवर हथियार है। अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग में राफेल को 10 में से 8.6 रेटिंग दी गई है जबकि एफ-16 को 7.9 रेटिंग मिली।

एफ-16 50 हजार फीट प्रति मिनट की दर से ऊंचाई पर चढ़ सकता है जबकि राफेल की ऊंचाई पर जाने की क्षमता 60 हजार फीट प्रति मिनट है।

गति की बात करें तो राफेल की तो करीब 2,222 किमी प्रति घंटा से उड़ सकता है। एफ-16 की गति करीब 2,414 किमी प्रति घंटा है।

यह भी पढ़ें: गेम चेंजर होगा राफेल लड़ाकू विमान : बीएस धनोआ

यह भी पढ़ें: राफेल सहित 26 तरह के विमान उड़ा चुके राकेश भदौरिया, बनेंगे वायुसेना प्रमुख

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)