इस शेयर ने कर दिया मालामाल! 5 महीने में 1 लाख रुपये बन गए 1 करोड़

0 399

क्या आप एक ऐसा शेयर जानते हैं जिसने अपने शेयरधारकों को सिर्फ 5 महीने से भी कम समय में 10,000 परसेंट का रिटर्न दिया है। आप कहेंगे पक्का कोई चवन्नी शेयर होगा। जी नहीं, इस शेयर का नाम है ऑर्चिड फार्मा, जो कि फार्मा सेक्टर की एक नामी कंपनी है।

ऑर्चिड फार्मा के शेयर ने दिया बम्पर रिटर्न

आपको जानकर हैरत होगी कि ऑर्चिड फार्मा का शेयर पिछले साल 3 नवंबर, 2020 को 18 रुपये पर था, पिछले हफ्ते 28 अप्रैल 2021 को ये 1787 रुपये पर बंद हुआ। यानी इन पांच महीनों के दौरान ही इसने 9,827 परसेंट का रिटर्न दिया। जबकि इस अवधि के दौरान Sensex ने 21.56 परसेंट ही रिटर्न दिया।

कैसे 1 लाख बन गए 99 लाख रुपये

मान लीजिए किसी ने आज से 5 महीने पहले जब ऑर्चिड फार्मा का शेयर 18 रुपये पर था, तब 1 लाख रुपये लगाए, यानी तकरीबन 5556 शेयर खरीदे। पिछले हफ्ते शेयर 1787 रुपये पर पहुंचा, तो ये 1 लाख रुपये का निवेश बढ़कर 5556 x 1787 = 99.28 लाख रुपये यानी करीब 1 करोड़ रुपये हो चुका है।

आज 5 परसेंट टूटा ऑर्चिड फार्मा

हालांकि आज ऑर्चिड फार्मा का शेयर 5 परसेंट की गिरावट के साथ 1456 रुपये पर बंद हुआ है। इस भाव पर भी 1 लाख रुपये का निवेश 8.89 लाख रुपये या करीब 81 लाख रुपये हो जाता। ऑर्चिड फार्मा की स्थापना 1992 में हुई थी। कंपनी का शेयर पिछले 5 महीनों 18 रुपये तक गिरा है तो 2,680 रुपये की ऊंचाई तक भी पहुंचा है। अगर शेयर के लाइफ टाइम हाई के भाव पर देखा जाए तो 1 लाख रुपये के निवेश की वैल्यू 1.49 करोड़ रुपये तक जा चुकी है।

दोबारा लिस्ट हुई है ऑर्चिड फार्मा

आपको बता दें कि ऑर्चिड फार्मा कुछ दिन पहले ही शेयर बाजार में फिर से लिस्ट हुई है। इस कंपनी की प्रमोटर धानुका लेबोरेटरीज है, जिसका इस कंपनी में 98.07 परसेंट हिस्सा है। पब्लिक शेयरहोल्डर्स इस कंपनी में आधा परसेंट से भी कम हिस्सा रखते हैं।

तब थम जाएगी तेजी

इस कंपनी के शेयरों में इतनी जोरदार तेजी की सबसे बड़ी वजह है कि नए निवेशकों ने कौड़ियों के भाव मेजोरिटी स्टेक खरीदा था। सेबी के नियमों के मुताबिक लिस्टिंग के तीन साल के अंदर प्रमोटर्स को कंपनी में अपनी हिस्सेदारी घटाकर 75 परसेंट पर लानी होगी। एक बार जब प्रमोटर्स अपनी हिस्सेदारी बेचना शुरू करेंगे तो इस शेयर में तेजी थम जाएगी। यानी इतना शानदार रिटर्न होने के बावजूद एक्सपर्ट्स इसे खरीदने की सलाह नहीं देंगे।

यह भी पढ़ें : दुनियाभर में कोरोना मामलों की संख्या 15.24 करोड़

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More