काबिल-ए-तारीफ : दहेज के 11 लाख लौटाकर लिए सिर्फ 101 रुपये, दुल्हन भी हुई फिदा…

समाज में अभी भी अच्छे लोगों की कमीं नहीं है और ऐसे लोगों की सोच समाज पर गहरा असर डालती है।

0 1,817

समाज में अभी भी अच्छे लोगों की कमी नहीं है और ऐसे लोगों की सोच समाज पर गहरा असर डालती है। एक स्कूल में हेडमास्टर रहे बृजमोहन मीणा ने अपने बेटे की सगाई कार्यक्रम में केवल 101 रुपये का शगुन लेकर नई लकीर खींच दी।

उन्होंने दहेज़ में मिल रहे 11 लाख रुपये यह कहते हुए लौटा दिए कि, “हमें दहेज़ नहीं केवल दुल्हन चाहिए”।

मामला राजस्थान के बूंदी जिले से सामने आया है। खजूरी पंचायत के पीपरवाला गांव के निवासी बृजमोहन मीणा ने अपने बेटे का रिश्ता टोंक जिले के एक गांव में तय किया है।

लड़की के पिता ने दिए 11 लाख रुपये-

बृजमोहन स्कूल में हेडमास्टर रह चुके हैं और अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं। बृजमोहन अपने बेटे रामधन की सगाई के लिए उनियारा तहसील के सोलतपुरा गांव पहुंचे थे।

ऐसे में रस्मों के दौरान लड़की के पिता ने 11 लाख रुपयों से भरा थाल सामने रख दिया। इस पर बृजमोहन ने कहा कि हमें दहेज नहीं चाहिए।

शगुन के तौर पर लिया 101 रुपए-

लेकिन वहां मौजूद लोगों ने कहा कि रिवाज के तौर पर हमें शगुन देना ही होता है तो उन्होंने महज 101 रुपए शगुन के तौर पर अपने पास रख लिए।

यह सब देखकर कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने उनकी तारीफ की और लोग बोले की सभी को सीख लेने की जरूरत है।

दुल्हन की ऐसी रही प्रतिक्रिया

ऐसे में जब यह बात दुल्हन को पता चला तो वह बोली कि, मेरे ससुर ने हमारा मान बढ़ा दिया है, मेरा सौभाग्य है कि मुझे ऐसे पिता समान ससुर मिले हैं।

आरती ने कहा कि उन्होंने दहेज में मिल रही रकम लौटाकर समाज को संदेश दिया है। इससे बेटियों का सम्मान बढ़ेगा।

यह भी पढ़ें: Girlfriend की शादी में पहुंचा Ex-Boyfriend, दुल्हन ने पति के सामने लगाया गले; वीडियो वायरल

यह भी पढ़ें: सुहागरात पर दुल्हन करती रही इंतजार, दूल्हा पहुंचा गया हवालात, जानें पूरा मामला

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More