जम्मू-कश्मीर पर लिया गया निर्णय सरदार पटेल से प्रेरित है : पीएम मोदी

0 19

सरदार पटेल की दूरदृष्टि की तारीफ करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि भाजपा सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर पर लिया गया निर्णय भारत के पूर्व गृह मंत्री से प्रेरित है।

पीएम मोदी ने एक सार्वजनिक सभा में कहा कि कश्मीर पर केंद्र सरकार का निर्णय सरदार पटेल से प्रेरित है और ये दशकों पुरानी समस्या का समाधान पाने की एक कोशिश है। मोदी मंगलवार को 69 वर्ष के हो गए।

सरकार ने पिछले महीने 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में धारा 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म कर दिया था, जिनके आधार पर राज्य को विशेष दर्जा मिला था। इसके साथ ही राज्य को दो हिस्सों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांट कर उन्हें केंद्र शासित राज्य बनाने का निर्णय भी लिया गया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हैदराबाद मुक्ति दिवस सरदार पटेल की दूरदृष्टि का परिणाम है। हैदराबाद मुक्ति दिवस हर साल 17 सितंबर को ही मनाया जाता है । इसी दिन 1948 में हैदराबाद रियासत का भारत में विलय हुआ था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें खुशी है कि ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ को देखने आने वाले पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि 133 साल पुराने ‘स्टेच्यु ऑफ लिबर्टी’ को देखने प्रतिदिन 10,000 लोग जाते हैं, लेकिन ‘स्टेच्यु ऑफ यूनिटी’ का लोकार्पण हुए सिर्फ 11 महीने ही हुए हैं और यहां 8,500 लोग प्रतिदिन आते हैं।

देवी नर्मदा की पीएम मोदी ने की पूजा-

https://youtu.be/HxFDcDeAcwA

अपने गृह राज्य की यात्रा पर आए मोदी ने इससे पहले मंगलवार को सरदार सरोवर बांध पर देवी नर्मदा की आरती की। उनके साथ गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी भी मौजूद थे। मोदी केवडिया स्थित तितली उद्यान भी गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी दो दिन की गुजरात यात्रा की शुरुआत ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ और सरदार सरोवर बांध जाकर की।

‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति है और इसका उद्घाटन मोदी ने पिछले साल 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर किया था।

इससे पहले उन्होंने अपने हेलीकॉप्टर से बनाया गया सरदार पटेल की मूर्ति का वीडियो भी पोस्ट किया।

 

यह भी पढ़ें: जन्मदिन पर पीएम मोदी ने उड़ाई तितलियां, देखें VIDEO

यह भी पढ़ें: सोनिया गांधी, ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को दी जन्मदिन की बधाई

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More