Mulayam Singh Yadav

‘मेरा कोई सम्मान नहीं करता, शायद मरने के बाद करें’ : मुलायम सिंह

समाजवादी पार्टी के संरक्षक व पूर्व अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव शनिवार को वरिष्ठ सपा नेता भगवती सिंह के 86वें जन्मदिन समारोह में भावुक हो गए। समारोह में मुलायम सिंह यादव की टीस उभर आई। उन्होंने कहा कि आज हमारा कोई सम्मान नहीं करता, लेकिन मेरे मरने के बाद शायद करें। मुलायम ने यह बात राजधानी लखनऊ के कैसरबाग स्थित गांधी प्रेक्षागृह में कही।

मरने के बाद लोग करेंगे सम्मान – मुलायम सिंह यादव

इस कार्यक्रम में मुलायम ने भगवती के साथ संस्मरणों को साझा करते हुए कहा कि मेरा साथ ऐसा होगा, लोग मरने के बाद सम्मान करेंगे। इससे पहले राम मनोहर लोहिया के साथ भी ऐसा ही हुआ था।

Also Read :  डिजिटल इंडिया ‘डकार’ रही है जनता का पैसा

मुलायम सिंह ने बताया कि वह भी इसी तरह कहा करते थे कि उनका कोई सम्मान नहीं करता। उन्होंने कहा कि वे पुराने समाजवादी साथी रहे और पार्टी को बनाने में उनका बड़ा योगदान रहा था। संघर्ष के दौर में जब समय पर खाना भी नहीं मिलता था, उस समय वे लइया-चना खाकर पेट भरा करते थे। उनके साथ कई दशकों का साथ है।

भगवती का कोई जोड़ नहीं- मुलायम सिंह

पूर्व सपा अध्यक्ष ने कहा कि डॉ. लोहिया, चन्द्रशेखर और राजनारायण जैसी शख्सियत के साथ बैठकर भगवती सिंह ने राजनीति सीखी। पार्टी को मजबूत करने में भगवती ने अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया। इतना ही नहीं, संघर्ष के दिनों में भी हमेशा कंधे से कंधा मिलाकर साथ रहे। साथ ही उन्होंने कहा कि भगवती का कोई जोड़ नहीं है।

Also read: Mann Ki Baat: पीएम मोदी ने देशवासियों को रक्षाबन्धन की दी शुभकामनाएं

मुलायम सिंह ने पुराने दौर को याद किया और कहा कि हमारे लोग नहीं चाहते थे कि भारतीय जनता पार्टी के नेता, समाजवादी पार्टी में शामिल हों। मुलायम सिंह की इस बात का इशारा कल्याण सिंह की तरफ था। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद हमने उन्हें पार्टी ज्वाइन कराई और उनके पार्टी से जाने के बाद अपने लोगों से हमने माफी भी मांगी।

बता दें कि मुलायम सिंह यादव इससे पहले भी इस तरह की नाराजगी व्यक्त कर चुके हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)