बीमारी भेदभाव नहीं देखती, गलतफहमी से बाहर निकले लोग: मोदी

0 222

कोरोना की दहशत के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी Narendra Modi बुधवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लोगों से रूबरू हुए। पीएम ने ये विश्वास दिलाया कि संकट की इस घड़ी में वह काशी के लोगों के साथ हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली की व्यस्तता के चलते वह वाराणसी नहीं आ पा रहे हैं, लेकिन अपने साथियों से वह पल-पल की अपडेट ले रहे हैं। Narendra Modi ने लॉकडाउन का पालन करने के लिए काशी की जनता का धन्यवाद किया।

यह भी पढ़ें : भारत में किलर Corona के 600 मामले, 10 को बनाया शिकार

कोरोना के खिलाफ हमने छेड़ा है युद्ध

Narendra Modi ने कहा कि केंद्र सरकार ने कोरोना के खिलाफ युद्ध छेड़ा है। देश संकट के दौर से गुजर रहा है। 130 करोड़ महारथी कोरोना को हराएंगे। काशी इसमें सबसे महत्वपूर्ण है। काशी लोगों का मार्गदर्शन कर सकती है। काशी देश को साधना, समाधान और संयम सीखा सकती है। Narendra Modi ने कहा कि काशी का अर्थ ही कल्याण होता है। महादेव की नगरी में ये सामर्थ्य नहीं होगा तो किसमें होगा ? उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग यानी घर में अलग रहना बहुत जरूरी है। किसी तरह के अफवाह और अंधविश्वास से दूर रहें।

यह भी पढ़ें : कोरोना: मोदी कैबिनेट की बैठक में दिखा Social Distancing

बीमारी भेदभाव नहीं करती : Narendra Modi

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान बनारस के रहने वाले समाजसेवी कृष्णकांत वाजपेयी ने कोरोना बीमारी को लेकर लोगों की अलग-अलग राय का जिक्र किया। उन्होंने बताया कि कुछ लोग कह रहे हैं कि गर्मी बढ़ने के साथ ये बीमारी खत्म हो जाएगी। इस सवाल पर पीएम ने जवाब देते हुए कहा कि कुछ लोग अपनी सहूलियत के हिसाब से काम करते हैं। मोदी ने चेतावनी देते हुए कहा कि लोग अपनी लगतफहमी से जितना जल्दी बाहर निकलें, बेहतर होगा। कई बार लोग सावधानी नहीं बरतते। अगर संयम रखा जाए तो इलाज संभव है। घरों में बंद रहना एकमात्र उपाय है। बीमारी किसी से भेदभाव नहीं करती

यह भी पढ़ें: Police बनी मददगार: घर में अकेले पड़े बीमार बुजुर्ग को पहुंचाया वृद्धाश्रम

डॉक्टरों से बदसलूकी दुर्भाग्यपूर्ण

Narendra Modi ने देश के कुछ हिस्सों में होने वाली बदसलूकी की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।उन्होंने कहा कि डॉक्टरों के साथ बदसलूकी हृदय को पीड़ा देने वाली है। अस्पतालों में सफेद कपड़ों में दिखने वाले लोग ईश्वर के रूप हैं।अपने जीवन को खतरे में डालकर ये लोग लोगों की सेवा कर रहे हैं। मेरी अपील है कि लोग डॉक्टरों और नर्स के साथ बुरा बर्ताव नहीं करें।सेवा करने वालों के साथ बुरा बर्ताव करना महंगा पड़ेगा।

यह भी पढ़ें : Lockdown से खेतों में खड़ी फसलों ने किसानों की बढ़ाई फिक्र

नवरात्र में गरीबों की मदद करें 

Narendra Modi ने कहा कि नवरात्रि में हर कोई अलग-अलग दिन 9 गरीबों की मदद का संकल्प लें। Narendra Modi बनारस के कपड़ा व्यापारी अखिलेश कुमार के सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि अगर 21 दिन में हालत ठीक नहीं हुआ तो भारी नुकसान की आशंका है। आपदा को अवसर में बदलना ही मानव जीवन का उद्देश्य होना चाहिए। इस दौरान मोदी ने कोरोना की जानकारी के लिए 9013151515 पर व्हाटसएप जारी किया।

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More