ममता बनर्जी का नया फरमान- बंगाल में रहने के लिए बांग्ला बोलना ज़रूरी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नया फरमान जारी किया है। ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल में रहने के लिए बांग्ला बोलनी ही पड़ेगी।

शुक्रवार को नॉर्थ 24 परगना में ममता बनर्जी ने एक जनसभा को संबोधित किया और कहा हमें बांग्ला भाषा को आगे बढ़ाना होगा।

उन्होंने कहा, ‘जब मैं बिहार, यूपी या पंजाब जाती हूं तो उनकी भाषा में बोलने की कोशिश करती हूं। अगर आप बंगाल में आए हैं तो आपको बंगाली ही बोलनी होगी।’

बंगाल की मुख्यमंत्री ने दो टूक कहा कि वह बिल्कुल बर्दाशत नहीं करेंगी कि बंगाल में गुंडे यूं ही बाइको पर घूमते रहे।

हिंसात्मक घटनाओं का दौरा जारी-

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव की शुरुआत से ही शुरू हुआ हिंसात्मक घटनाओं का दौरा अब तक रुकने का नाम नहीं ले रहा।

सत्तासीन दल तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच आए दिन टकराव हो रहे हैं।

इसके अलावा लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में भाजपा का शानदार प्रदर्शन भी ममता के गले में फांस की तरह अटका है।

ऐसे में भाषा को लेकर दिया गया ममता का यह बयान भाजपा पर निशाने की तरह लिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: ‘जय श्री राम’ पर फिर बिफरीं ममता, BJP पर लगाये ये आरोप

यह भी पढ़ें: शाह का ममता से सवाल – ‘श्री राम का नाम भारत में नहीं तो क्या पाकिस्तान में ले?’

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)