यूपी के कई जिलों में टिड्डियों का आतंक, अलर्ट जारी

0 318

उत्तर प्रदेश के कई जिले बीते 48 घंटों से टिड्डियों के हमले से प्रभावित हैं। इनमें झांसी, चित्रकूट, प्रयागराज, प्रतापगढ़, भदोही, आजमगढ़ और अंबेडकरनगर शामिल हैं। उत्तर प्रदेश में बीते 48 घंटों में टिड्डियों के झुंडों ने कई जिलों के पेड़ों और फसलों पर हमला किया है।

यूपी के कृषि विभाग ने अलर्ट रहने के दिए निर्देश

यूपी के कृषि विभाग ने कहा कि इनके पड़ोसी जिलों जैसे हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, कौशांबी, मिजार्पुर, सुल्तानपुर, मऊ और बलिया के अधिकारियों को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है।

देवरिया में टिड्डियों का हमला

राज्य के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के पूर्वी उत्तर प्रदेश में स्थित गृह जिला देवरिया भी टिड्डियों के हमलों का सामना कर रहा है। उन्होंने रविवार को कहा, “टिड्डियों का झुंड देवरिया आया था, हालांकि झुंड ने सिर्फ बैसिला मेनुद्दीन गांव पर हमला किया। ग्रामीणों ने तेज ध्वनि के साथ उनका पीछा कर उन्हें भगाया। झुंड कुशीनगर की ओर निकल पड़ा है। हम उन्हें मारने के लिए रसायनों का छिड़काव कर रहे हैं और सभी जिलों को अलर्ट पर रखा गया है।”

locusts attack

टिड्डियों का पीछा करने के लिए धुएं का इस्तेमाल

शाही ने कहा कि कीटनाशकों का छिड़काव अग्निशमन विभाग के वाहनों से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों को ‘थालियों’ और अन्य बर्तनों को पीटकर जोर से शोर मचाने के लिए कहा गया है। पुलिस वाहन के सायरन भी बजाए जाएंगे और टिड्डियों का पीछा करने के लिए धुएं का इस्तेमाल किया जाएगा।

Varanasi

सरकार ने टिड्डियों को मारने के लिए दिए पांच लाख रुपये

मंत्री ने कहा, “यूपी सरकार ने टिड्डियों को मारने के लिए और रसायनों के छिड़काव के लिए राज्य के सीमावर्ती जिलों में से प्रत्येक को पांच लाख रुपये दिए हैं। इसके साथ ही स्थिति पर निरंतर निगरानी के लिए मुख्य विकास अधिकारी के अधीन प्रत्येक जिले में एक निगरानी समिति का गठन किया गया है।”

यह भी पढ़ें : ‘मन की बात’ में बोले पीएम मोदी, ‘लद्दाख में हमारे वीरों ने करारा जवाब दिया’

यह भी पढ़ें: दुनियाभर में एक करोड़ के करीब पहुंचे कोरोना के मामले, पांच लाख के करीब मौतें

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता अहमद पटेल पर ईडी का शिकंजा | Hindi News Podcast

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्पडेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More