भव्य कुंभ में अंधेरा, अब तक नहीं लगी स्ट्रीट लाइट

कुंभ के प्रथम स्नान मकर संक्रांति पर 15 जनवरी को देश-दुनिया के कोने-कोने से आने वाले संतों-भक्तों को पहली बार पुण्य की डुबकी लगाएंगे। इसके लिए महीनों से तैयारी चले रही है, हालांकि प्रमुख शाही स्नान के दौरान आने वाले कुछ श्रद्धालुओं को अँधेरे से होकर गुजरना होगा। बता दे कि औधोगिक क्षेत्र स्थित संड़वा तिराहे से होते हुए मवईया गांव के समीप से अरैल क्षेत्र के जरिये प्रयागराज के रास्ते में अब तक स्ट्रीट लाइट को नहीं लगाया जा सका है। जिसकी वजह से रात्रि प्रहर में मेलार्थी संड़वा तिराहे से लेकर मवईया गांव तक के मार्ग पर अंधेरे से होकर अरैल क्षेत्र होते हुए संगम नगरी में पहुंचगे।

अंधेरे से होकर संगम नगरी पहुंचगे तीर्थयात्री:

प्रमुख शाही स्नान के दौरान यमुनापार, मिरजापुर व अन्य कई जिलों समेत मप्र से आने वाले श्रद्धालु सहिति छिवंकी व नैनी रेलवे जंक्शन पर उतरने वाले,  दूसरे प्रांत से आने वाले काफी हद तक तीर्थयात्रियों का जत्था प्रयागराज के औधोगिक क्षेत्र स्थित संड़वा तिराहे से होते हुए मवईया गांव के समीप से होते हुए अरैल क्षेत्र पहुंचते हैं और वहां से संगम नगरी में प्रवेश करते हैं। लेकिन अबतक उक्त स्थानो पर स्ट्रीट लाइट को नहीं लगाया जा सका है। जिसकी वजह से रात्रि प्रहर में मेलार्थी संड़वा तिराहे से लेकर मवईया गांव तक के मार्ग पर अंधेरे से होकर संगम नगरी पहुंचगे ।

ज़रूर पढ़ें: तेजस्वी ने मायावती से लिया आशीर्वाद, लंच पर अखिलेश से मुलाकात

कुंभ मेला में ये होगा खास:

-कुंभ मेले के लिए प्रयागराज शहर को सजाया गया है। पेंट माय सिटी के तहत शहर के सभी महत्वपूर्ण चौराहे और इमारतें कुंभ के रंग में हैं। वैसे तो समूचा कुंभ मेला क्षेत्र ही अपने आप में देखने लायक है, लेकिन कुछ ऐसी जगहें भी हैं, जहां भारतीय कला और संस्कृति के नजदीक से दर्शन हो सकेंगे।

-अखाड़ों में जहां नागा संतों की दिनचर्या और अनूठी मुद्राएं देखने को मिलेंगी, वहीं अरैल मेला क्षेत्र में बनाए गए संस्कृति और कला ग्राम में पूरे भारत की झलक दिखाई देगी।

-कला ग्राम के पास ही उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र का पंडाल है। जहां देश के सात सांस्कृतिक केंद्रों की प्रस्तुति रोज होगी।

-कुंभ में आने वाले लोग पहली बार अकबर के किले में अक्षयवट और सरस्वती कूप के भी दर्शन कर सकेंगे। इसके अलावा 12 माधव की परिक्रमा और क्रूज की सवारी का भी आनंद ले सकेंगे।

-अरैल मेला क्षेत्र और मुख्य मेला क्षेत्र में भी कई सेल्फी पॉइंट बनाए गए हैं, जहां से लोग कुंभ की यादें संजो सकेंगे।

-पर्यटन विभाग लोगों के लिए हेलिकॉप्टर राइड की व्यवस्था भी कर रहा है। इसके अलावा लेजर शो का आनंद भी पर्यटक उठा सकेंगे।