केजरीवाल 16 फरवरी के शपथ समारोह में दूसरे राज्यों के सीएम या नेताओं को न्योता नहीं

0 18

केजरीवाल 16 फरवरी को रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को लगातार तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण करेंगे। यह समारोह रामलीला मैदान में होगा। आप के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने कहा, “केजरीवाल 16 फरवरी को रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। समारोह में शामिल होने के लिए किसी अन्य राज्य के मुख्यमंत्री या नेता को न्योता नहीं भेजा जाएगा। यह सिर्फ दिल्ली वालों के लिए होगा।”

70 में 62 सीटों पर जीतकर पूर्ण बहुमत हासिल किया

11 फरवरी को आए चुनाव नतीजों में आप ने 70 में 62 सीटों पर जीतकर पूर्ण बहुमत हासिल किया था। 8 सीटों पर भाजपा को विजय मिली। कांग्रेस लगातार दूसरे विधानसभा चुनाव में खाता तक नहीं खोल सकी। गोपाल राय आप की दिल्ली इकाई के प्रभारी हैं। वह केजरीवाल सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। मनीष सिसोदिया के बाद उन्हें पार्टी में तीसरे नंबर का नेता माना जाता है।

खाली हाथ कांग्रेस

आखिरकार विधानसभा चुनाव 2020 में कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली। यह लगातार दूसरा चुनाव है, जिसमें पार्टी खाता नहीं खोल पाई। 2015 में भी कांग्रेस एक भी सीट नहीं हासिल कर पाई थी। इस बार पार्टी ने 66 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे, इनमें से केवल 3 ही अपनी जमानत बचा पाए। वहीं, भाजपा 8 ने सीटों पर जीत दर्ज की, जो कि पिछली बार से 5 ज्यादा है। वैसे भाजपा ने जिन 16 मुस्लिम बहुल सीटों पर उम्मीदवार उतारे, वहां 4 पर भाजपा जीती है। लेकिन, जिन तीन सीटों पर अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा ने प्रचार किया था, वहां पार्टी को हार का सामना करना पड़ा।

अब भूपेंद्र हुड्डा और सिंधिया ने भी उठाए सवाल

दिल्ली विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी में शुरू हुई सिर फुटौव्वल
पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी को दी रणनीति बदलने की नसीहत
पी सी चाको के बयान के बाद बरसे भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कई अन्य नेता
दिल्ली में हार की जिम्मेदारी लेते हुए पीसी चाको ने प्रभारी पद से इस्तीफा दे दिया है
नई दिल्ली
कांग्रेस पार्टी दिल्ली के अलावा देशभर की सत्ता में लंबे समय तक काबिज रही है। अब उसकी हालत यह हो गई है कि वह दिल्ली में लगातार दो बार से शून्य सीटों पर बरकरार है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी कभी पार्टी की रणनीति पर सवाल उठा रहे हैं तो कभी एक-दूसरे को दोषी ठहरा रहे हैं। ताजा मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी को रणनीति बदलने की सलाह दी है। वहीं, हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने दिल्ली चुनाव में कांग्रेस के प्रभारी रहे पीसी चाको पर निशाना साधा है।

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More