आर्टिकल 370 : क्या कश्मीर में लौटेगा सिनेमा का दौर?

भारत सरकार ने धारा 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को मिलने वाला स्पेशल स्टेटस वापस ले लिया है। इसके बाद से उम्मीद जताई जा रही है कि इसके हटने से कश्मीर के सामाजिक और आर्थिक ताने-बाने में काफी अंतर आ सकता है।

अब जम्मू-कश्मीर एक केंद्र शासित प्रदेश बन गया है। ऐसे में कई क्षेत्रों के साथ ही सिनेमा के क्षेत्र में बदलाव आने की उम्मीद है।

सिनेमाघर मालिक अक्षय राठी और फिल्म ट्रेड एनालिस्ट गिरीश जौहर से इस बारे में बात की। अक्षय ने बताया, ‘पिछले काफी समय से कश्मीर घाटी में सिनेमाघर बंद पड़े हैं। धारा 370 हटने के बाद निश्चित तौर पर सरकार कश्मीर की इकॉनमी में तेजी लाने के लिए कई बड़े बदलाव के रास्ते तलाशेगी।’

आगे उन्होंने कहा कि यह सभी जानते हैं कि भारत में सिनेमा बदलाव का एक बहुत बड़ा जरिया रहा है। इसलिए निश्चित तौर पर सरकार कश्मीर में सिनेमा को बढ़ावा देगी और सिनेमाघरों को फायदा पहुंचाएगी ताकि वह दोबारा से चलने लगें।

वहीं दूसरी तरफ गिरीश ने कहा कि उन्हें लगता है कि कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद घाटी में मल्टीप्लेक्स खुलेंगे लेकिन यह सब तुरंत नहीं होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर सरकार चाहेगी कि भारत के अन्य राज्यों की तरह वहां भी जन जीवन सामान्य हो जाए।

आगे उन्होंने कहा कि हां जब वहां विकास होगा और नया निवेश आएगा तो इससे वहां शॉपिंग मॉल और मल्टीप्लेक्स भी खुलेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह सब देर के बजाय जल्द हो जाए।

यह भी पढ़ें: BJP MLA के बिगड़े बोल – अब गोरी कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे कार्यकर्ता

यह भी पढ़ें: फारूक अब्दुल्ला बोले – हम नजरबंद हैं, शाह ने कहा, ‘गन कनपटी पर रखकर…’

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)