तीन तलाक पीड़िताओं के लिए सम्बल बनेगा इन्द्रेश कुंज

मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक जैसी सामाजिक कुप्रथा से मुक्ति दिलाने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के केन्द्रीय नेता इन्द्रेश कुमार के नाम पर वाराणसी के मैदागिन स्थित ‘इन्द्रेश कुंज’ अब तीन तलाक पीड़ितों की मदद का केन्द्र बनेगा। विशाल भारत संस्थान द्वारा संचालित इन्द्रेश कुंज का उद्घाटन समाजसेवी गौरव मिश्रा ने फीता काटकर किया। इन्द्रेश कुंज के उद्घाटन के अवसर अखण्ड रामायण का पाठ एवं भोजभात का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पातालपुरी मठ के पीठाधीश्वर महंत बालक दास ने किया।

अनाज बैंक ने अपना विस्तार पटल स्थापित किया

इस अवसर पर विशाल भारत संस्थान की महासचिव अर्चना भारतवंशी ने बताया कि इन्द्रेश कुंज में तीन तलाक पीड़ित मुस्लिम महिलाओं की मदद के लिए अनाज बैंक ने अपना विस्तार पटल स्थापित किया है ताकि शहर में रहने वाली तीन तलाक पीड़ित महिलाएं अपने भरण-पोषण के लिए अनाज प्राप्त कर सकें। अनाज बैंक तलाक पीड़ित महिलाओं के लिए ही यह विस्तार पटल शुरू किया है। अनाज बैंक के विस्तार पटल में निकासी खाता खोलने की शुरूआत 13 अक्टूबर से होगी। इन्द्रेश कुंज में तीन तलाक पीड़ित महिलाओं के लिए रोजगार प्रशिक्षण केन्द्र भी बनाया गया है। जहां सिलाई-कटाई से लेकर कम्प्यूटर तक का प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसके अलावा इन्द्रेश कुंज में परिवार सुलह केन्द्र भी स्थापित हुआ है, ताकि भविष्य में तलाक की घटनाओं को रोका जा सके और परिवार को टूटने से बचाया जा सके।

तीन तलाक ने मुस्लिम महिलाओं की जिन्दगी को नरक बना दिया

मुख्य अतिथि गौरव मिश्रा ने कहा कि ‘तीन तलाक ने मुस्लिम महिलाओं की जिन्दगी को नरक बना दिया था। सरकार ने तीन तलाक खत्म कर दिया है लेकिन तलाक पीड़ित महिलाओं की मदद के लिए समाज को भी अपनी बड़ी भूमिका निभानी होगी, क्योंकि तलाक पीड़ित महिलाओं के साथ उनके बच्चे भी इस कुप्रथा का दंश झेल रहे हैं। समाज सुधारक इन्द्रेश कुमार ने हिन्दुस्तान की 10 करोड़ मुस्लिम महिलाओं को आत्म सम्मान से जीने का रास्ता दिखा दिया है। उनके नाम पर बना इन्द्रेश कुंज तलाक पीड़ित महिलाओं को सम्बल प्रदान करेगा।’

तलाक पीड़ित महिलाएं समाज के लिए बोझ नहीं

विशाल भारत संस्थान के अध्यक्ष डा0 राजीव श्रीवास्तव ने कहा कि ‘तलाक पीड़ित महिलाएं समाज के लिए बोझ नहीं हैं। उन्हें प्रशिक्षित कर उनके पैर पर खड़ा करने का सबसे बड़ा गैर सरकारी प्रयास इन्द्रेश कुंज के माध्यम से होगा। अब तलाक पीड़ित महिलाओं को दो वक्त की रोटी के लिए दर-दर भटकना नहीं पड़ेगा। अनाज बैंक विस्तार पटल, मैदागिन में खाता खोलकर उन्हें हर हफ्ते अनाज की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी।’

मुस्लिम महिलाओं के घरों को बचाना ही इन्द्रेश कुंज का उद्देश्य

समाजसेवी कुंवर मो0 नसीम रजा खान ने कहा कि ‘तलाक पीड़ित महिलाओं की मदद और मुस्लिम महिलाओं के घरों को बचाना ही इन्द्रेश कुंज का उद्देश्य है। परिवार सुलह केन्द्र से पति-पत्नी के रिश्ते को न सिर्फ बचाने का काम किया जायेगा, बल्कि पुलिस और अदालत तक जाने से भी रोका जायेगा।’ इन्द्रेश कुंज के प्रबन्धक धर्मेन्द्र नारायण ने अतिथियों का स्वागत किया और मो0 अजहरूद्दीन ने धन्यवाद दिया।

यह भी पढ़ें: बिहार के कई इलाकों में बाढ़ का कहर, हेलिकॉप्टर से गिराए गए खाने के पैकेट

यह भी पढ़ें: वंदे भारत एक्सप्रेस : अब दिल्ली से वैष्णो देवी की यात्रा सिर्फ 8 घंटे में, ट्रेन की खास बातें

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।