India Disappointed As China blocks Masood Azhar global terrorist

चीन ने चौथी बार मसूद को बचाया, भारत ने दिया ये जवाब…

भारत में कई आतंकी हमलों के पीछे शामिल आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर (Masood Azhar) को ग्लोबल टेररिस्ट (Global Terrorist) घोषित किए जाने पर चौथी बार चीन ने अड़ंगा लगाया है। इससे नाराज संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने चेतावनी दी कि यदि चीन अपनी इस नीति पर अड़ा रहा तो जिम्मेदार सदस्य परिषद में ‘अन्य कदम’ उठाने पर मजबूर हो सकते हैं।

सुरक्षा परिषद ने की चीन की निंदा:

सुरक्षा परिषद के एक दूत ने चीन को असामान्य कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि यदि चीन इस कार्य में बाधा पैदा करना जारी रखता है, तो जिम्मेदार सदस्य देश सुरक्षा परिषद में अन्य कदम उठाने पर मजबूर हो सकते हैं। ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं होनी चाहिए। दूत ने अपनी पहचान गोपनीय रखने की शर्त पर यह कहा। सुरक्षा परिषद में एक अन्य दूत ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा, ”चीन ने चौथी बार सूची में अजहर को शामिल किए जाने के कदम को बाधित किया है।” चीन को समिति को अपना वह काम करने से रोकना नहीं चाहिए, जो सुरक्षा परिषद ने उसे सौंपा है।

हेरिटेज फाउंडेशन के जेफ स्मिथ और अमेरिकन इंटरप्राइज इंस्टीट्यूट के सदानंद धूमे समेत अमेरिकी थिंक टैंक के कई सदस्यों ने भी चीन के इस कदम की निंदा की।

सुषमा स्वराज ने कहा कि इमरान उदार है तो मसूद को हमे सौंप दें:

वहीं भारत ने भी इसका कड़ा विरोध करते हुए चीन की इस कार्रवाई पर दुःख जताया है। विदेश मंत्री सुषा स्वराज ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि अगर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान इतने ही उदार हैं तो उन्हें जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन के सरगना मसूद अजहर को भारत को सौंप देना चाहिए।

ये भी पढ़ें:  रक्षा मंत्रालय ने किया खुलासा, सेना के जवान के अपहरण की खबर झूठी

चीन को छोड़ कर पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ी: रवि शंकर प्रसाद

केंद्रीय मंत्री रवि प्रसाद ने कहा कि आतंकवादी मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के लिए इस बार प्रस्ताव अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस लेकर आए, चीन को छोड़कर बाकी सभी देशों ने इस प्रस्ताव को सपोर्ट किया।  मसूद अजहर पर यूएन में चीन के अड़ंगे पर बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इस मामले में पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ी हुई है।ये एक तरह से भारत की कूटनीतिक जीत है।

अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित कराने में फिर चीन ने लगाया अड़ंगा:

गौरतलब है कि मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित कराने की भारत की कोशिश को बुधवार को उस समय एक और झटका लगा जब चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उसे वैश्विक आतंकी घोषित करने वाले प्रस्ताव पर तकनीकी रोक लगा दी। बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था, जिसमें 40 जवानों की मौत हो गई थी। इस हमले के कारण भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है।
(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)