आईएमएफ ने चेताया 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट से बदतर होगी इस बार की मंदी

अब हम मंदी में हैं, यह वैश्विक वित्तीय संकट से भी बदतर है

0 20

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की मैनेजिंग डायरेक्टर क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने साल 2008 में आए वैश्विक वित्तीय संकट से बदतर मंदी को लेकर चेतावनी दी है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ शुक्रवार को एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में जॉर्जीवा के बयान के हवाले से कहा, “अब हम मंदी में हैं, यह वैश्विक वित्तीय संकट से भी बदतर है।”

ऐसा IMF के इतिहास में अभूतपूर्व

IMF की मैनेजिंग डायरेक्टर ने स्वास्थ्य और आर्थिक जैसे ‘दोहरे संकट’ पर बात करते हुए कहा कि कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के चलते ऐसा IMF के इतिहास में अभूतपूर्व है।

IMF की मैनेजिंग डायरेक्टर ने जोर देकर कहा कि दुनियाभर में कोविड-19 से लड़ाई के बीच जीवन बचाने और आजीविका की रक्षा पर साथ में काम किए जाने की आवश्यकता है।

50 हजार से अधिक व्यक्तियों ने अपनी जान गंवाई

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार, वर्तमान में 10 लाख से अधिक लोग दुनियभर में कोविड-19 संक्रमण से संक्रमित हुए हैं, जिनमें से 50 हजार से अधिक व्यक्तियों ने अपनी जान गंवाई है।

सीडीसी ने दी कपड़े का मास्क पहनने की सलाह : डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति Donald Trump ने कहा कि सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने अपनी सिफारिश में कहा है कि अमेरिकियों को कोविड-19 से बचाने के लिए कपड़े से बने मास्क को पहनना चाहिए। व्हाइट हाउस में एक प्रेस ब्रिफिंग के दौरान Donald Trump ने कहा, “सीडीसी ने अपनी सिफारिश में कहा कि वॉलंटरी हेल्थ मेजर्स के रूप में नॉन-मेडिकल क्लॉथ (कपड़े) का इस्तेमाल किया जाए। यह वॉलंटरी है, उन्होंने कुछ समय के लिए इसकी सिफारिश की है।”
Donald Trump ने स्पष्ट किया कि वह खुद मास्क नहीं पहनेंगे।

खुद मास्क नहीं पहनेंगे

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने अपनी रिपोर्ट में सीडीसी द्वारा जारी एक विज्ञप्ति के हवाले से कहा कि सिफारिशें हाल के अध्ययनों पर आधारित हैं। इसके महत्वपूर्ण हिस्से में कहा गया कि कोरोनावायरस से संक्रमित व्यक्तियों में लक्षणों की कमी होती है और अंतत: लक्षण विकसित करने वाले मरीज भी लक्षण दिखाने से पहले दूसरों को वायरस प्रसारित कर सकते हैं।

-Adv-

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन: काशी में कोई भूखा ना रहे, खुला भोले बाबा का दरबार

यह भी पढ़ें: जैसे-जैसे आगे बढ़ते गए, मौत पीछे छूटती गई!

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More