Meteorological Department

किसानों के लिए राहत पहुंचाएगा मानसून, होगी अच्छी बारिश

कृषि क्षेत्र और देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर आई है। भारतीय मौसम विभाग ने इस साल अच्छी बारिश की संभावना जताई है। सोमवार को मौसम विभाग ने कहा कि जून से सितंबर की अवधि में मॉनसून के सामान्य रहने की संभावना है।भारतीय मौसम विभाग के डीजी के जी रमेश ने कहा, ‘मॉनसून का लंबी अवधि (एलपीए) का औसत 97 फीसदी रहेगा जो कि इस मौसम के लिए सामान्य है। कम मॉनसून की ‘बहुत कम संभावना’ है। इससे पहले मौसम का पूर्वानुमान लगाने वाली प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट ने भी 4 अप्रैल को कहा था कि 2018 में मॉनसून 100 फीसदी सामान्य रहने की संभावना है।

जून के पहले सप्ताह में पहुंच सकता है मानसून

बारिश यदि एलपीए के 96-104 फीसदी हो तो इसे सामान्य मॉनसून कहा जाता है। सामान्य से अधिक मॉनसून में बारिश एलपीए के 104-110 फीसदी होती है। एलपीए के 110 फीसदी से अधिक होने पर इसे ‘अत्यधिक’ कहा जाता है।

Also Read : बीएचयू ने बनाई पट्टी, घाव भरने के साथ ही स्किन में घुल जाएगी पट्टी

मौसम विभाग के मुताबिक, 42 फीसदी संभावना सामान्य वर्षा की है जबकि 12 फीसदी आसार हैं कि बारिश सामान्य से अधिक होगी। इसका मतलब है कि देश में बारिश सामान्य से अधिक होने की अच्छी संभावना है। मॉनसून मई के अंतिम सप्ताह या जून के पहले सप्ताह में केरल पहुंच सकता है।

2017 और 2016 में भी मॉनसून सामान्य रहा

इससे पहले 2017 और 2016 में भी मॉनसून सामान्य रहा था, लेकिन 2014 और 2015 में मॉनसून कम होने की वजह से देश को सूखे की मार झेलनी पड़ी थी। सामान्य बारिश होने से अच्छी खेती होगी और अर्थव्यवस्था पर इसका सीधा और सकारात्मक असर होता है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)