दोबारा रिलेशनशिप में पड़ने की सोच रहे हैं तो जरूर पढ़े

प्रेम एहसासों का समुंदर होता है। इन्हीं एहसासों में डूबते-उतराते हुए प्रेमी एक अनजानी मंजिल की ओर बढ़ते हैं। जीवन की कठिन लहरों को मुस्कुराकर खेते हैं। तूफान के अंदेशे पर एक-दूसरे के गले लग जाते हैं। आह! जीवन कितना खूबसूरत होता है। किसी खूबसूरत सपने जैसा लगता है सबकुछ। लेकिन सपने और हकीकत में शायद यही फर्क होता है।

releshnship

 जिंदगी किसी के लिए नहीं रुकती है

एक दिन ऐसा भी आता है जब आपको एहसास होता है कि वो आपका था ही नहीं जिसके आप हो गए थे। सिर्फ एक इंसान की कमी आपको दुनियाभर के गमों से भर जाती है। प्रेम ऐसा ही होता है, लेकिन जिंदगी किसी के लिए नहीं रुकती है।

releshnship

कोई ना कोई आपको इस दुनिया में मिल ही जाता है जिससे आपको फिर से प्रेम हो जाता है। यूं तो प्रेम में कोई टिप्स देने की कोशिश करना व्यर्थ है लेकिन फिर भी कुछ बुनियादी बातों का आप अगर ख्याल रखें तो विरह वेदना में आप थोड़ा कम तपेंगे। ये चार बातें गांठ बांध लीजिए, दोबारा प्रेम करने से पहले ध्यान रखिएगा।

Also Read : मंदसौर गैंगरेप : दोषी दरिंदों को जीवित रहने का कोई अधिकार नहीं : शिवराज

जो बीत गया सो बीत गया। किसी की याद में आप तड़पे रोए, खाना-पीना छोड़ दिया लेकिन अब आपके जीवन में कोई और आ गया है। आपकी हरकतों का उसपर भी असर पड़ेगा इसलिए पुरानी बातों को पूरी तरह भुला दीजिए और नए साथी के साथ जीवन शुरू कीजिए।

releshnship

अपने नए साथी के सामने भूलकर भी पुरानी बातों का जिक्र ना करें। इससे उनके मन को चोट पहुंचती है भले ही वे ना कहें। फोटोज, वीडियोज, चैट्स मिटाकर खुद को पास्ट से पूरी तरह अलग कर दें। पूरे समर्पण के साथ अपने नए साथी को प्रेम करें। यकीन मानिए आपको बहुत अच्छा लगेगा।

releshnship

दूसरी बार रिश्ते में पड़ने से पहले अपने मिजाज को समझिए। पार्टनर चुनने में बिल्कुल जल्दबाजी ना करें। अगर आपको एकांत में रहना पसंद है तो ऐसे पार्टनर को चुनें जो आपके पर्सनल स्पेस को समझे। अगर आपको ऐसे लोग नहीं पसंद जो नशा करते हैं तो भी पार्टनर के चुनाव के समय इसका बात रखें।

releshnship

क्योंकि शुरुआत में तो सबकुछ अच्छा लगता है लेकिन समय बीतने के साथ-साथ यही छोटी चीजें बड़ी हो जाती हैं। प्रेम में अटैचमेंट समझ में आता है लेकिन इतना भी क्या कि रिलेशनशिप टॉक्सिक हो जाए। इसलिए पार्टनर हावी होने वाला और 24 घंटे हुक्म चलाने वाला ना हो इसका ध्यान रखें। सुकून जरूरी है।साभार

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)