सीएए प्रदर्शन के बीच अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में परीक्षाएं स्थगित

 

छात्रों की मांग के आगे झुका प्रशासन
एएमयू के पीआरओ ने दी जानकारी

सीएए के खिलाफ बने माहौल की वजह से एएमयू की परीक्षाएं स्थगित कर दी गयी हैं।
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) परिसर में छात्रों के बीच अशांति और प्रदर्शन के कारण अभी भी तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है, जिसके चलते एएमयू के अधिकारियों ने गुरुवार को परीक्षाओं को स्थगित कर दिया।

बढ़ाए गए शीतकालीन अवकाश के बाद विश्वविद्यालय के पुन: से खोलने के बाद इन परीक्षाओं को निर्धारित किया गया था।

यह निर्णय बैठक के बाद लिया गया

विश्वविद्यालय की सभी परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय बुधवार को कुलपति प्रोफेसर तुगलक मंसूर की अध्यक्षता में लिया गया। यह निर्णय संकाय प्रमुखों, कॉलेजों के प्राचार्यों, पॉलिटेक्निक और अन्य पदाधिकारियों के डीन की परामर्शी बैठक के बाद लिया गया।

गुरुवार से कक्षाएं बहाल

अधिकारियों ने कहा कि गुरुवार से कक्षाएं बहाल कर दी जाएंगी, लेकिन परीक्षाओं को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है।

सूत्रों के अनुसार, निरंतर आंदोलन और प्रतिदिन विरोध प्रदर्शन के चलते विश्वविद्यालय सामान्य रूप से कार्य कर सकेगा या नहीं इस पर संशय बना हुआ है।

प्रदर्शनकारी छात्रों ने कुछ शिक्षकों के साथ नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और पुलिस द्वारा कथित क्रूरता के खिलाफ बुधवार शाम कैंडल मार्च निकाला।

जामिया यूनिवर्सिटी में भी अगली सूचना तक परीक्षाएं स्थगित

गौरतलब है कि जामिया यूनिवर्सिटी ने भी अगली सूचना तक परीक्षाएं स्थगित कर दी थीं। 15 दिसंबर की रात एएमयू में भी पुलिस ने छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की थी। आरोप है कि पुलिस ने हॉस्टल में घुसकर छात्रों को बर्बर तरीके से पीटा। इसके बाद छात्रों के आक्रोश को देखते हुए यूनिवर्सिटी के कुलपति तारिक मंसूर को सफाई देनी पड़ी और यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पुलिस के खिलाफ शिकायत करने की भी जानकारी दी थी।