नहीं हुए सात फेरे, संविधान को साक्षी मानकर रचाई शादी

जनपद में इस नव दंपत्ति की सोच की जमकर चर्चा हो रही है। जिले में इस तरह का दहेज रहित और सादगी भरा यह पहला विवाह माना जा रहा है

0 138

उत्तर प्रदेश के जनपद एटा में एक अनूठी शादी देखने को मिली है। इस शादी में अग्नि के सात सात फेरे नहीं बल्कि संविधान को साक्षी मानकर एक नव दंपत्ति ने नए जीवन की शुरुआत की है। 

उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सभापति रमेश बाबू यादव सहित जिले के सैकड़ों गणमान्य लोग संविधान की शपथ लेते हुए इस अनूठी शादी के गवाह बने। एटा जिला पंचायत परिसर जनेश्वर मिश्र मैरिज होम में दूल्हा और दुल्हन ने संविधान की शपथ लेकर एक दूसरे का जीवन भर साथ निभाने का वादा किया।

जनपद में इस नव दंपत्ति की सोच की जमकर चर्चा हो रही है। जिले में इस तरह का दहेज रहित और सादगी भरा यह पहला विवाह माना जा रहा है।

वही इस शादी समारोह में उत्तरप्रदेश विधान परिषद के सभापति रमेश बाबू यादव व सपा के एमएलसी अरविंद यादव, बीजेपी के पटियाली विधायक ममतेश शाक्य, पूर्व जिला पंचायत जुगेन्द्र सिंह यादव, समाजसेवी मेधाब्रत शास्त्री सहित सैकड़ों की तादात में लोग इस अनूठी शादी के गवाह बने, जिसकी चर्चा जनपद के लोग जमकर कर रहे है।

शादी में बेफिजुली में खर्च की बचत-

निधौली कला क्षेत्र निवासी भीष्मपाल सिंह जो कि दूल्हे के पिता है ये बीते कई वर्षों से लगातार सामाजिक कार्य में लगे हुए हैं। समाज में उदाहरण पेश करने के लिए भीष्मपाल ने अपने बेटे आदित्य का विवाह समारोह को व्यसन व प्रदूषण और दहेज मुक्त करने का फैसला किया।

वहीं दूल्हा बने आदित्य ने अपने विवाह में संविधान की शपथ लेकर अपना दांपत्य जीवन संविधान के अनुरूप ही चलाने का फैसला किया। दूल्हे आदित्य ने बताया कि समाज में शादी के नाम पर बहुत खर्चा होता है।

गरीब लोग अमीर लोगों को देखकर इस झूठे पाखंडी समाज में दिखावे के लिए बहुत खर्चा करते हैं। जिससे उनको बेफिजुली में खर्च हुए आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ता है। इसलिए हमने दहेज रहित और बहुत ही सादगी पूर्ण तरीके से विवाह करने का निर्णय लिया।

इसके साथ ही हमारा देश संविधान से चलता है इस वजह से हमने संविधान को साक्षी मानकर अपना विवाह किया है। उन्होंने बताया कि हम संविधान के अनुरूप ही अपने दांपत्य जीवन का निर्वाह करेंगे। दूल्हा बने आदित्य के इस फैसले का स्वागत लड़की पक्ष के परिवार वालों ने भी किया।

यह भी पढ़ें: …ताकि नन्हें हाथों में न लगे शादी की हथकड़ियां 

यह भी पढ़ें: ‘प्यार’ हो तो ऐसा

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More