धर्मपाल गुलाटी : कभी चलाते थे तांगा, इस तरह बने मसाला किंग, पुरानी तस्वीरें वायरल

0 2,349

भारत के प्रतिष्ठित कारोबारियों में से एक धर्मपाल गुलाटी के निधन से पूरा देश शोक में है। एमडीएच के मालिक और मसालों के बादशाह धर्मपाल गुलाटी ने गुरुवार को 98 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा।

dharampal gulati

dharampal gulati

पिछले साल उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। बताया जा रहा है कि उनका निधन हार्ट अटैक आने की वजह से हुआ। उनके निधन की खबर मिलते ही सोशल मीडिया पर उनकी पुरानी तस्वीरें वायरल होने लगी।

ऐसे हुई MDH की शुरुआत-

MDH

MDH का पूरा नाम Mahashian Di Hatti है। सालों से महाशय धर्मपाल गुलाटी एमडीएच मसालों के विज्ञापन में आ रहे थे।

उनके पिता ने पाकिस्तान के सियालकोट में साल 1922 में एक छोटी सी दुकान से इस सफर की शुरुआत की थी। देश के बंटवारे के बाद उनका परिवार दिल्ली आ गया।

MDH

जब धर्मपाल गुलाटी ने चलाया तांगा-

MDH

बताया जाता है कि दिल्ली आने के बाद धर्मपाल गुलाटी ने एक तांगा खरीदा था, जिससे वह सवारी को लाते ले जाते थे। हालांकि इस काम में न तो धर्मपाल गुलाटी का मन लगता था और न ही उन्हें इतनी आमदनी होती थी।

dharampal gulati

साल 1953 में उन्होंने चांदनी चौक में एक दुकान ली, जिसका नाम ‘महाशयां दी हट्टी’ रखा। तब से ये दुकान MDH के नाम से जानी जाने लगी।

इस तरह मिली पॉपुलैरिटी-

MDH

धीरे-धीरे धर्मपाल गुलाटी के मसाले लोगों को इतने पसंद आने लगे कि इनका निर्यात दुनियाभर में होने लगा। साल 2017 में उन्हें इंडिया में किसी भी FMCG कंपनी का सबसे ज्यादा वेतन पाने वाला CEO भी घोषित किया गया था।

यह भी पढ़ें:अफवाह नहीं सच : मसाला किंग धर्मपाल गुलाटी का 98 साल की उम्र में निधन

यह भी पढ़ें: पहली बार पीपीई किट पहने नजर आए PM मोदी, देखिए Exclusive PHOTOS

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More