match

दिल्ली टेस्ट : लंका ने बचाया मैच, भारत श्रृंखला 1-0 से जीता

भारत तीन मैचों की श्रृंखला को 2-0 से जीतने में नाकाम रहा। उसे 1-0 से इसे जीतकर संतोष करना पड़ा। श्री लंका अपने युवा बल्लेबाज धनंजय डी सिल्वा (नाबाद119) के तीसरे शतक ने फिरोज शोह कोटला मैदान पर खेले गए तीसरे और निर्णायक टेस्ट मैच को ड्रॉ करवाने में सफल रहा। पांचवें दिन का खेल खत्म होने तक श्री लंका ने भारत द्वारा रखे गए 410 रनों के लक्ष्य के जबाव में पांच विकेट के नुकसान पर 299 रन बनाए। धनंजय हालांकि, चोट के कारण 76वें ओवर में मैदान से बाहर चले गए। दोनों कप्तानों ने दिन का खेल खत्म होने से पहले ही मैच ड्रॉ करने पर सहमति जता दी।

Also Read: अयोध्या विवाद को 2019 के चुनाव तक टालने की कोशिश, अब बुरे फंसे कपिल सिब्बल

सोलह ओवर में चटकाए तीन विकेट 

निरोशन डिकवेला 74 रोशेन सिल्वा 44 रन बनाकर पविलियन लौटे। धनंजय और रोशेन के बीच छठे विकेट के लिए 58 रनों की साझेदारी हो पाई थी तभी धनंजय मैदान से बाहर चले गए।भारत को आखिरी दिन सात विकेटों की दरकार थी लेकिन लंकाई बल्लेबाजों ने भारत को जीत हासिल नहीं करने दिए। भारत ने चौथे दिन मंगलवार को आखिरी सत्र में अपनी पारी पांच विकेट के नुकसान पर 256 रनों पर घोषित कर दी थी और श्री लंका को 16 ओवर गेंदबाजी करते हुए 31 रनों पर उसके तीन विकेट चटका दिए थे।

Also Read:  योगी सरकार का फैसला, डॉ. अंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस की छुट्टी रद्द

एक छोर से जमे रहे धनंजय

पांचवें दिन उम्मीद थी कि भारतीय गेंदबाज जल्द ही श्री लंकाई टीम को ढेर करते हुए जीत हासिल करेंगे, लेकिन धनंजय ने ऐसा नहीं होने दिया। वह शुरू से एक छोर पर अच्छे से जमे हुए थे। उन्होंने पहले कप्तान दिनेश चंडीमल (36) के साथ पांचवें विकेट के लिए 112 रनों की साझेदारी की। इस जोड़ी को अश्विन ने दूसरे सत्र में चंडीमल को बोल्ड कर तोड़ा। दूसरे सत्र में भारतीय टीम चंडीमल के रूप में एकमात्र विकेट ही ले पाई। इसके बाद धनंजय ने अपना पहला मैच खेल रहे रोशेन के साथ फिर पारी को बनाया और टीम को हार से बचाने की कोशिशें जारी रखीं। इसी बीच धनंजय को पीठ में परेशानी हुई और वह 76वें ओवर की समाप्ति के बाद मैदान से बाहर चले गए। वह जब मैदान से बाहर गए तब टीम का स्कोर पांच विकेट पर 205 रन था।

Also Read: बाबरी मस्जिद विध्वंस के 25 साल: VHP मनाएगी शौर्य दिवस, यूपी में अलर्ट

मैथ्यूज ने खाता खोल बनाए एक रन 

इससे पहले, 31 रनों पर तीन विकेट के नुकसान पर पांचवें दिन की शुरुआत करने उतरी श्री लंका को दिन के छठें ओवर में पहला झटका लगा। पिछली पारी में 111 रन बनाने वाले एंजेलो मैथ्यूज को जडेजा ने स्लिप में अंजिक्य रहाणे के हाथों कैच कराया। मैथ्यूज ने इस पारी में सिर्फ एक रन बनाया। धनंजय ने 35वें ओवर की पहली गेंद पर एक रन लेकर अपना अर्धशतक पूरा किया। लेकिन इसके बाद भारतीय गेंदबाज पहले सत्र की समाप्ति तक विकेट नहीं ले सके। श्री लंका ने चौथे दिन आखिरी सत्र में दिमुथ करुणारत्ने (13), सदीरा समाराविक्रमा (5), सुरंगा लकमल के विकेट खोए थे। भारत की तरफ से जडेजा ने तीन विकेट लिए, जबकि अश्विन और मोहम्मद शमी को एक-एक विकेट मिला।

Also Read: अयोध्या 25 साल: अयोध्या की सूरत बदली, सीरत नहीं

मैच में कोहली ने मारा दोहरा शतक 

भारत ने अपनी पहली पारी 536 रनों पर सात विकेट के नुकसान पर घोषित कर दी थी और श्री लंका को पहली पारी में 373 रनों पर सीमित कर दिया था। भारत की तरफ से पहली पारी में कप्तान विराट कोहली ने 243, मुरली विजय ने 155 और रोहित शर्मा ने 65 रनों की पारियां खेली थीं। वहीं श्री लंका की तरफ से पहली पारी में मैथ्यूज के अलावा चंडीमल ने 164 रन बनाए थे। भारत की तरफ से दूसरी पारी में शिखर धवन 67 के अलावा कोहली और रोहित ने 50-50 रन बनाए थे। चेतेश्वर पुजारा ने 49 रन बनाए थे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)