दिवाली से पहले पुलिसकर्मियों को बड़ा झटका, वेतन को लेकर सरकार ने लिया बड़ा फैसला

0 5,143

प्रदेश सरकार ने पुलिस सिपाहियों को दिवाली से पहले बड़ा झटका दिया है। वित्त विभाग ने कांस्टेबलों की ग्रेड पे बढ़ाने वाली मांग को खारिज कर दिया है। वित्त विभाग के नियम अनुभाग ने पुलिसकर्मिकों का वेतन ग्रेड पे 2400 से बढ़ाकर 3600 करने की मांग को उचित नहीं माना है।

संयुक्त शासन सचिव वित्त के हस्ताक्षर से आदेश जारी

बता दें कि संयुक्त शासन सचिव वित्त सुरेश कुमार वर्मा के हस्ताक्षर से इस आशय के आदेश जारी हुए हैं। ऐसे में वित्त विभाग कांस्टेबलों की ग्रेड पे 2400 से बढ़ाकर 3600 नहीं करेगा। इस संबंध में वित्त विभाग ने टिप्पणी करते हुए कहा कि इससे पहले भी यह मांग उठ चुकी है, लेकिन 20 सितंबर 2017 को विशिष्ट शासन सचिव वित्त (व्यय) की अध्यक्षता में गठित एक कमेटी द्वारा इस मांग का परीक्षण किया गया था, जिसमें इसको युक्तिसंगत नहीं माना गया।

कांस्टेबल

सोशल मीडिया पर कांस्टेबलों की मुहिम

गौरतलब है कि पुलिस कांस्टेबलों ने ग्रेड पे बढ़ाने को लेकर सोशल मीडिया पर मुहिम शुरु की थी। इसे #राजस्थान पुलिस 3600GP नाम से ट्विटर पर भी ट्रेंड करवाया था। इसे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, सचिन पायलट और सीएमओ को भी टैग किया गया था।

पुलिसवालों की इस मांग को लेकर 100 से ज्यादा विधायकों, सांसदों समेत कई जनप्रतिनिधियों ने समर्थन देते हुए मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा था। विधायकों ने राजस्थान विधानसभा में भी इस मुद्दे को उठाया था।

शिक्षकों के समान ग्रेड-पे करने की थी मांग

गौरतलब है कि राजस्थान में करीब 87 हजार से ज्यादा पुलिस कांस्टेबल हैं। इन कांस्टेबलों की मांग थी कि उनका ग्रेड पे 2400 से बढ़ाकर तृतीय क्षेणी के शिक्षकों के समान 3600 किया जाए।

यह भी पढ़ें: यूपी पुलिस के ऐसे पुलिसकर्मियों की जिलों से सूची न भेजे जाने से नाराज DGP मुख्यालय ने अब दिये ये निर्देश

यह भी पढ़ें: बरेली में हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने थाने में की तोड़फोड़, पुलिस ने दर्ज की FIR

यह भी पढ़ें: दाढ़ी रखने पर यूपी पुलिस के दरोगा को एसपी ने किया निलंबित, सिखाया पुलिस मैनुअल का पाठ

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More