मासिक राशिफल दिसंबर 2020: जानिए इस महीने क्या कहते हैं आपके सितारे

0 371

साल 2020 का दिसंबर महीना में ग्रहों की चाल कैसे होगी और इसका असर सभी राशियों पर कैसा पड़ेगा। जुलाई के महीने में आपके लिए कौन-सा दिन शुभ और अशुभ रहेगा। इन सभी का ज्योतिषी विश्लेषण! December 2020 Horoscope

मेष- चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ

1 से 4 दिसंबर के दिन 7:22 बजे तक पुरुषार्थ के प्रति रुचि। कर्ज की अदायगी का प्रयास। तद्नन्तर 6 के दिन 2/46 बजे तक लाभ में कमी। तदुपरान्त 12 की रात्रि 10:41 बजे तक नवीन योजना का श्रीगणेश। विवाद का समापन। यात्रा सफल। तत्पश्चात् 14 की रात्रि 11:26 बजे तक दुर्जनों से कष्ट। तदनन्तर 21 के दिन 4:29 बजे तक मनोकामना पूर्ण। व्यक्तित्व का विकास। नौकरी में पदोन्नति। यात्रा लाभदायक। 23 तक उन्नति में बाधा। 24 से 31 दिसम्बर के दिन 1:38 बजे तक आय के नवीन स्रोत। घरेलू वातावरण सुखद। गलतफहमी दूर होने की ओर।

भाग्योदय टिप्स-

  • गरीब, जरूरतमंदों व असहाय छात्रों को गुरुवार के दिन पुस्तकें वितरित करें।
  • शनिग्रह की शांति करावें।
  • घर में खाली डिब्बे नहीं रखना चाहिए।

वृषभ- ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो

1 से 6 दिसंबर के दिन 2:45 बजे तक नवयोजना दृष्टिगत। लाभ का सुयोग। तत्पश्चात् 8 की रात्रि 7:31 बजे तक दैनिक कार्यों के प्रति उदासीनता। तदुपरान्त 14 की रात्रि 11:26 बजे तक नवसम्पर्क लाभदायक। उन्नति की दिशा में प्रयास। 16 तक क्रोध की अधिकता 17 से 23 तक व्यावसायिक आर्थिक सफलता। वाद-विवाद की स्थिति में कमी।

24 से 26 की सायं 5:18 बजे तक जोखिम से नुकसान। 30 दिसम्बर तक परिवार में हर्षोल्लास का वातावरण। परोपकार की भावना जागृत। 31 दिसम्बर को परेशानी। स्वास्थ्य में गिरावट। वाहन से चोट-चपेट संभव।

भाग्योदय टिप्स-

  • श्रीहनुमानजी का दर्शन-पूजन करें तथा तुलसी जी की माला एवं लड़ का भोग लगावें।
  • वाद-विवाद की स्थिति से दूर रहें।
  • गौसेवा का नियम अपनायें।

मिथुन- का, की, कू, घ, ड, छ, के, को, हा

1 दिसंबर की रात्रि 9:37 बजे तक समय अशुभ। तदुपरान्त 8 की रात्रि 7:31 बजे तक कार्यों में सफलता। पारिवारिक खुशी। परोपकार की भावना जागृत। तदनन्तर 10 के दिन 9:52 बजे तक कार्यों से असंतोष। 16 तक संकल्प सिद्धि। बकाये धन की प्राप्ति।

दाम्पत्य जीवन में मधुरता। 17 से 19 के दिन 7:16 बजे तक दुर्जनों से कष्ट। तत्पश्चात् 26 की सायं 5:18 बजे तक कार्यों में अनुकूलता। आत्मिक शांति। पारिवारिक दायित्व की पूर्ति। 28 तक उलझनें प्रभावी। 29 से 31 दिसम्बर तक तक योजना साकार। आनन्द की अनुभूति । भौतिक सुख-सुविधा सुलभ।

भाग्योदय टिप्स-

  • भवन के मुख्य द्वार पर मांगलिक चिह्न लगाना चाहिए।
  • घर के स्वामी की बैठक हमेशा पूर्वाभिमुख या उत्तरभिमुख होना चाहिए।
  • गौ सेवा नित्य करें।

कर्क- ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो

1 दिसंबर की रात्रि 9:37 बजे तक आरोग्य सुख। तदपरान्त 4 के दिन 7:22 बजे तक लाभार्जन में बाधा। तदनन्तर 10 की रात्रि 9:52 बजे तक आपसी संबंधों में मधुरता। लाभ का सुयोग। संभावित यात्रा सफल। तत्पश्चात् 12 की रात्रि 10:41 बजे तक कार्यों में विलम्ब। तदुपरान्त 19 के दिन 7/16 बजे तक विविध लाभ का सुअवसर।

उपहार या सम्मान का लाभ। समस्या का निवारण। तद्नन्तर 21 के दिन 4:29 बजे तक विश्वासघात की आशंका। 28 तक मन प्रसन्न । व्यावसायिक सफलता। परिवार में हर्षोल्लास। 29 से 31 दिसम्बर के दिन 1:38 बजे तक आर्थिक निराशा।

भाग्योदय टिप्स-

  • अपने घर में पवित्र नदियों के जल को ईशान कोण में रखें।
  • धर्म का कार्य करने से पीछे न हटे।
  • पलंग को कमरे के दक्षिण-पश्चिम कोने में रखना चाहिए।

सिंह- मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे

1 से 4 दिसंबर के दिन 7:22 बजे तक कार्यों में सफलता। मनोरथ परे। तदनन्तर 6 के दिन 2:46 बजे तक निराशा की स्थिति। तदुपरान्त 12 की रात्रि 10:41 बजे तक दिनचर्या व्यवस्थित । बिकाये धन की प्राप्ति । तत्पश्चात् 14 की रात्रि 11:26 बजे तक धनागम में बाधा। तदनन्तर 21 के दिन 4:29 बजे तक परिस्थितियों में सुधार।

उपस्थित कटुता समाप्त । लाभ का मार्ग प्रशस्त। 23 तक योजना अधूरी। 24 से 31 दिसम्बर के दिन 1:38 बजे तक नवयोजना का शुभारम्भ। धन विषयक मसला हल। लिया गया निर्णय हितकर। शेष समय में बात-बात पर क्रोध।

भाग्योदय टिप्स-

  • अपनी जवाबदेही से मुंह न फेरें।
  • कुत्ते को घर से बना शुद्ध शाकाहारी भोजन करावें।
  • धातु से बनी घड़ी पूर्व दिशा की दिवाल पर नहीं लगानी चाहिए।

कन्या- टो, पा, पी, पू, प, ण, ठ, पे, पो

1 से 6 दिसम्बर के दिन 2:45 बजे तक मनोकामना पूर्ण । कठिनाइयों में कमी। आय के नवीन स्रोत। तत्पश्चात् 8 की रात्रि 7:31 बजे तक योजना अधूरी। तदुपरान्त 14 की रात्रि 11:26 बजे तक अनुकूलता। श्रेष्ठजनों से सम्पर्क का सुयोग। लाभ का सुयोग।

कर्ज की निवृत्ति। 16 तक विश्वासघात की आशंका। 17 से 23 तक ग्रहयोग शुभ। महत्वपूर्ण सफलता। कठिनाइयों का निराकरण। धन संचय की ओर प्रवृत्ति। 24 से 26 की सायं 5/18 बजे तक समय प्रतिकूल। 30 तक योजना साकार। सफलता का सुअवसर। अधिकारियों से सहयोग। 31 दिसम्बर को समय विपरीत।

भाग्योदय टिप्स-

  • प्रतिदिन दुर्गाजी का दर्शन पूजन करें।
  • गुड़ मिश्रित काले तिल का लड्डु शनिवार के दिन गरीबों को बांटें।
  • घर में अंधेरा नहीं रखना चाहिए। अंधेरे वाले घर में सोना नहीं चाहिए।

तुला- रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते

1 दिसंबर की रात्रि 9:37 बजे तक व्यावसायिक निराशा। तदुपरान्त 8 की रात्रि 7:31 बजे तक वातावरण अनोनकल। सफलता का सुयोग। विरोधी परास्त। तदनन्तर 10 के दिन 9:52 बजे तक परिस्थितियां प्रतिकूल। 16 तक समय शुभ। मांगलिक कृत्य सम्पन्न। आमोद-प्रमोद के साधन सुलभ।

17 से 19 के दिन 7:16 बजे तक व्यापार में कठिनाइयां। तत्पश्चात् 26 की सायं 5:18 बजे तक विविध पक्षों में अनुकूलता। कार्य बनने की ओर। सुसमाचार से खुशी। 28 तक प्रयास विफल। 29 से 31 दिसम्बर तक व्यवसाय में प्रगति। उच्चाधिकारियों से सम्पर्क।

भाग्योदय टिप्स-

  • शनिवार के दिन भैरो जी की पूजा-अर्चना करें।
  • देवी-देवताओं को उत्तम से उत्तम पदार्थ अर्पित करने चाहिए।
  • तिजोरी दीवार में नहीं होनी चाहिए।

वृश्चिक- तो, ना, नी, नू, ने, नो, या यी, यू

1 दिसंबर की रात्रि 9:37 बजे तक आर्थिक प्रगति। तदुपरान्त 4 के दिन 7:22 बजे तक कार्यों में उलझनें। मानसिक तनाव। तदनन्तर 10 की रात्रि 9:52 बजे तक शुभ कृत्य सम्पादित। सुख का अनुभव। धनागम का सुयोग। तत्पश्चात् 12 की रात्रि 10:41 बजे तक समय प्रतिकूल।

तदुपरान्त 19 के दिन 7:16 बजे तक सामयिक लाभ। मेल मिलाप में रुझान। आमोद-प्रमोद का साधन सुलभ। तदनन्तर 21 के दिन 4:29 बजे तक आर्थिक निराशा। 28 तक समस्यायें हल। वाद-विवाद का समापन। 29 से 31 दिसम्बर के दिन 1:38 बजे तक समय विपरीत। शेष समय कठिनाइयों का निवारण।

भाग्योदय टिप्स-

  • बेसहारा को सहारा देवें।
  • मुख्यद्वार पर कभी भी जोर से थप्पी नहीं मारना चाहिए।
  • घर में अनुपयोगी विद्युत उपकरण, चीजों को हटा देना चाहिए।

धनु- ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, ढ़े

1 से 4 दिसंबर के दिन 7:22 बजे तक कार्य-सिद्धि। मेल-मिलाप में रुचि। नवीन योजना का श्रीगणेश। तदोपरान्त 6 के दिन 2:46 बजे तक कार्यों में गतिरोध। तदुपरान्त 12 की रात्रि 10:41 बजे तक आपसी संबंधों में मधुरता। आकस्मिक लाभ का सुयोग। तत्पश्चात् 14 की रात्रि 11:26 बजे तक जोखिम से हानि।

तद्नन्तर 21 के दिन 4:29 बजे तक अनुकूलता। आशाएं फलीभत। श्रेष्ठजनों का सम्पर्क। 23 तक सुख शांति का अभाव। 24 से 31 दिसम्बर के दिन 1:38 बजे तक समय संतोषजनक। बकाये रकम की प्राप्ति। आरोग्य सुख की प्राप्ति। शेष समय निराशाजनक।

भाग्योदय टिप्स-

  • अमावस्या तिथि के दिन ब्राह्मण को भोजन करावें।
  • बैठक के कमरे के मध्य झरोखा नहीं होना चाहिए।
  • घर में बिजली का मीटर दक्षिण पूरब में होना चाहिए।

मकर- भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी

1 से 6 दिसंबर के दिन 2:45 बजे तक नवयोजना की शुरुआत । समस्या का समाधान। पदोन्नति विषयक मसला हल। तत्पश्चात् 8 की रात्रि 7:31 बजे तक समय प्रतिकूल। तदुपरान्त 14 की रात्रि 11:26 बजे तक समय बेहतर। कार्यों में प्रगति। योजना साकार। धनागम का मार्ग प्रशस्त। 16 तक वैचारिक स्थिरता का अभाव।

17 से 23 तक कठिनाइयों का निराकरण। मतभेद में कमी। तालमेल से कार्य सिद्ध। संतान पक्ष से उत्कर्ष। 24 से 26 की सायं 5:18 बजे तक परेशानी। 30 दिसंबर तक दाम्पत्य जीवन में मधुरता। स्वास्थ्य में सुधार। कर्ज की निवृत्ति का प्रयास।

भाग्योदय टिप्स-

  • विष्णु भगवान की पूजा अर्चना का नियम अपनावें।
  • बहते हुए शुद्ध जल में नारियल प्रवाहित करें।
  • घर के आगे या पीछे श्मशान या कब्रिस्तान नहीं होना चाहिए।

कुंभ- गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा

1 दिसंबर की रात्रि 9:37 बजे तक असफलता। तदुपरान्त 8 की रात्रि 7:31 बजे तक कार्य व्यवसाय में प्रगति। स्वजनों का सहयोग। सफलता का सुयोग। तदनन्तर 10 के दिन 9:52 बजे तक धनागम में बाधा। 16 तक पुरुषार्थ के प्रति रुचि। धन संचय की प्रवृत्ति। संत समागम भी।

17 से 19 के दिन 7:16 बजे तक मनोबल में कमी। तत्पश्चात् 26 को सायं 5:18 बजे तक व्यापार में धन निवेश। प्रियजनों से मधुरता। कार्य बनने से प्रसन्नता। 28 तक निराशा की स्थिति। 29 से 31 दिसंबर तक दिनचर्या व्यवस्थित। लाभ का सुयोग। धार्मिक स्थलों की यात्रा से मन प्रसन्न।

भाग्योदय टिप्स-

  • किसी साधु फ़कीर को लोहे का तवा,चिमटा दान देवें।
  • घर में पूजा घर उत्तर-पूर्व दिशा की ओर रखना चाहिए।
  • बच्चों का शयनकक्ष पश्चिम दिशा में बनवायें।

मीन- दी, दू, थ, झ, भ, दे, दो, चा, ची

1 दिसंबर की रात्रि 9:37 बजे तक मनोकामना पूरी। तदुपरान्त 4 के दिन 7:22 बजे तक व्यवसाय में निराशा। तद्नन्तर 10 की रात्रि 9:52 बजे तक सफलता का सुयोग। समस्याओं का समाधान। तत्पश्चात् 12 की रात्रि 10:41 बजे तक उलझनें प्रभावी।

तदुपरान्त 19 के दिन 7:16 बजे तक नवयोजना की शुरुआत। समस्या का समाधान। दर्शनीय स्थलों की यात्रा। तदनन्तर 21 के दिन 4:29 बजे तक कठिनाइयां प्रभावी। 28 तक आर्थिक पक्ष बेहतर। कठिनाइयों में कमी। 29 से 31 दिसम्बर के दिन 1:38 बजे तक परेशानी। कर्ज से चिन्तित। शेष समय संतोषजनक।

भाग्योदय टिप्स-

  • अपने कार्यों से लोगों को दुखी न करें।
  • किसी से भी मुफ्त सामान न लेवें।
  • उत्तर-पूर्व दिशा में तुलसी का पौधा लगाने से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है।

यह भी पढ़ें: संकष्टी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत से मिलती है जीवन में सुख-समृद्धि, खुशहाली

यह भी पढ़ें: प्रदोष व्रत : शिवजी की कृपा से होती है ऐश्वर्य एवं वैभव की प्राप्ति

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More