बंगाल में बीजेपी नेता का फांसी से लटकता मिला शव, पार्टी ने लगाया हत्या का आरोप

0 498

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक देबेंद्र नाथ रॉय का सड़क किनारे फंदे से लटकता हुआ शव मिलने से हड़कंप मच गया। वहीं बीजेपी पार्टी ने तृणमूल कांग्रेस सरकार पर हत्या का आरोप लगाते हुए जमकर हमला बोला।

2019 में बीजेपी में आये थे देबेंद्र नाथ रॉय

बता दें कि देबेंद्र नाथ रॉय पहले माकपा (CPM) की टिकट पर विधायक बने थे। इसके बाद 2019 में उन्‍होंने बीजेपी ज्‍वाइन की थी। यहीं नहीं भाजपा और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के बीच कोई ना कोई विवाद सामने आता रहता है। अब सोमवार सुबह पश्चिम बंगाल के हेमताबाद से बीजेपी विधायक देबेंद्र नाथ रॉय का शव सड़क किनारे एक दुकान के बाहर फंदे पर लटकत मिलने से हड़कंप मचा हुआ है।

 

भाजपा नेता ने ममता सरकार पर साधा निशाना

वहीं बीजेपी विधायक देबेंद्र नाथ रॉय की हत्‍या के मामले में भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने ममता सरकार पर निशाना साधा। उन्‍होंने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर कर लिखा, निंदनीय और कायरतापूर्ण कृत्य !!!

उन्होंने आगे लिखा कि ‘ममता बैनर्जी के राज में भाजपा नेताओं की हत्या का दौर थम नहीं रहा। CPM छोड़ भाजपा में आये हेमताबाद के विधायक श्री देबेंद्र नाथ रॉय की हत्या कर दी गई। उनका शव फांसी पर लटका मिला।’

कैलाश विजयवर्गीय ने पूछा सवाल…

कैलाश विजयवर्गीय ने सवाल किया कि क्या इनका गुनाह सिर्फ भाजपा में आना था ?…’ बता दें कि इससे पहले भी कई बार बीजेपी और टीएमसी के बीच पश्चिम बंगाल में तकरार देखने को मिली है। लोकसभा चुनाव के दौरान भी दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं और समर्थकों के बीच भी झड़प की कई घटनाएं सामने आई थीं। इसके अलावा कुछ दिन पहले पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर में बीजेपी नेता पबित्रा दास गोली लगने से घायल हो गए थे।बीजेपी मीडिया सेल के हेड अमित मालवीय ने इससे जुड़े ट्वीट को रिट्वीट किया, जिसमें कहा गया कि देवेंद्र नाथ राय का शव उनके गांव में घर के पास लटका मिला।

यह भी पढ़ें: पायलट फोन कॉल का जवाब नहीं दे रहे हैं: राजस्थान के कांग्रेस प्रभारी

यह भी पढ़ें: जयपुर: कांग्रेस की विधायक दल की बैठक पर है सभी की नजर

यह भी पढ़ें: हिंदू समिति के नेता तपन घोष का कोरोना से निधन

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्पडेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More