shami

सुलह की पंचायत में नहीं पहुंचे क्रिकेटर शमी और हसीन

बीते कई दिनों से चल रहे भारतीय क्रिकेटर शमी और उनकी पत्नी के बीच घरेलू विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। पंचायत (panchayat) ने विवाद को अपने स्तर से सुलझाने के लिए इस मामले में दखल दिया था। पंचायत की सुलह पेशी में शमी और हसीन नही पहुंचे। शमी-हसीन की सुलह होने को निर्धारित तारीख निकल गए, लेकिन शमी अमरोहा नहीं पहुंचे। हसीन जहां भी नोएडा से कोलकाता पहुंचने की बात कह रही है। दोनों में सुलह कराने का बीड़ा उठाने का दम भर रहे पंचायत के लोग शमी का इंतजार अभी कर रहे हैं।

शमी के न आने का कारण उसकी व्यस्तता

अमरोहा जनपद के कस्बा जोया में शमीम अहमद के आवास पर शमी और हसीन की पंचायत होने पर लोगों की निगाहें रही। देर शाम तक पंचायत नहीं हुआ। इसका कारण शमी का न पहुंचना बताया गया है। पंचायत से जुड़े लोग शमी के न आने का कारण उसकी व्यस्तता बता रहे हैं और उनकी ओर से दावा किया जा रहा है कि शमी समय निकालकर पहुंचेंगे। दरअसल पिछले पांच दिनों तक शमीम अहमद के आवास पर ठहरी हसीन जहां को लेकर बिरादरी के कुछ लोगों की एक पंचायत हुई थी।

Also Read :  ये हैं लेडी बाइकर…जुनून ने ले ली जान

पंचायत से जुड़े लोगों ने दावा किया था कि शमी मामले में सुलह करने को तैयार है और शमी 14 मई को पहुंचेगा। लेकिन शमी नहीं आया और हसीन जहां भी कोलकाता पहुंचने का दावा कर रही है।निर्धारित समय पर पंचायत में नहीं पहुंच पाए शमी और हसीन की सुलह को लेकर पंचायत के लोग उम्मीद लगाए हैं। पंचायत से जुड़े लोगों की माने तो शमी और हसीन में सहमति की बात चल रही है और पंचायत अपना पूरा प्रयास दोनों के उजड़े घर को बसाने में करेगी। पंचायत के लोगों के सुझाव पर पंचायत और हसीन जहां ने किसी भी बयान न देने का निर्णय लिया गया है।

इसके लिये सभी ने मीडिया से भी दूरी बनाना तय किया है।हसीन जहां ने कहा- पंचायत क्या निर्णय लेगी और शमी की पंचायत के लोगों से क्या बात हुई है, इस बारे में मुझे नहीं बताया गया है। मै कोलकाता लौट चुकी हूं, अगर कोई बात होगी तो पंचायत के लोगों से बात की जाएगी। फिलहाल मै कोई बयान नहीं दे रही हूं।शमी के मामा मुगीर ने बताया कि पंचायत में शमी के आने की जो लोग बात कह रहे हैं, वह शमी के विरोधी हैं।

…लेकिन खुलासा फिलहाल नहीं करेंगे

शमी के न आने का कारण साफ है कि जो लोग पंचायत की बात कह रहे थे, उनके दावे खोखले निकले हैं। हसीन जहां ठंडे दिमाग से शमी के परिजनों से खुद बात करें तो कुछ बात बन सकती है।वहीं पंचायत आयोजक शमीम अहमद ने बताया, हम आशावादी लोग है, मौजूदा लोगों ने हसीन और शमी का मामला समझ लिया है। शमी किसी काम में बिजी हो सकता है, इस कारण आने में देरी हुई होगी। हमे उम्मीद है कि शमी समय निकाल आएगा और हसीन-शमी में सुलह होगी। कुछ लोगों के कारण ही हसीन-शमी का विवाद बढ़ा है, बैठकर बात करने से मामला निपट सकता है। सबकुछ तय है, लेकिन खुलासा फिलहाल नहीं करेंगे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)