Corona के खिलाफ कैम्प कार्यालयों से जंग में जुटे योगी के सभी मंत्री

श्रीकांत शर्मा ले रहे विद्युत सप्लाई का हाल

0 157

पूरे देश में Corona को लेकर लॉकडाउन होने के बाद जरूरी सेवाओं की आपूर्ति न बिगड़े इसलिए कैम्प कार्यालय से व्यवस्था बनाने में योगी सरकार के मंत्री जुटे हुए हैं। सुबह से शाम तक सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए अधिकारियों से फोन पर जायजा ले रहे हैं। फोन से शिकायतों का निस्तारण भी कर रहे हैं।

श्रीकांत शर्मा ले रहे विद्युत सप्लाई का हाल

सरकार के प्रवक्ता व ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा इन दिनों Corona को लेकर क्रिटिकल जनपदों में विद्युत सप्लाई का हाल अपने कैंप कार्यालय से लेते हैं।मंत्री ने बताया कि “वह दिन में ऊर्जा विभाग के अधिकारियों से टेलीफोन के जरिये संपर्क रखते हुए आपूर्ति की समीक्षा करते हैं। जरूरी दिशा निर्देश वह अपने कार्यालय से ही देते हैं। ऊर्जा विभाग के कर्मिकों को कहीं कोई समस्या न आये इसके लिए भी वह फीडबैक लेते हैं। दिनभर घर से ही कार्यालयी कामकाज किया जा रहा है।”

कई वषों के बाद यह पहला मौका जब घर में हैं

उन्होंने बताया कि “कई वषों के बाद यह पहला मौका है जब वह घर में हैं परिवार के साथ भी अपना समय बिता पा रहे हैं। राजनैतिक व्यस्तता के नाते यह कर पाना मुश्किल होता था लेकिन पिछले कई दिनों से घर में पारिवारिक सदस्यों के साथ भोजन करने का मौका मिल रहा है। उनसे बातें साझा करने का भी यह अवसर है।”

सुरेश राणा गन्ना किसानों की समस्याओं को देख रहे

गन्नामंत्री सुरेश राणा भी लॉक डाउन के कारण मिले वक्त को अपने परिवार के साथ तो बिता रहे हैं साथ गन्ना किसानों और चीनी मिलों की समस्याओं को भी देख रहे हैं। अपने क्षेत्र में हर दिन करीब 150 फोन कॉल के माध्यम से लोगों के हाल-चाल ले रहे हैं। लोगों को Corona के प्रति फोन से जागरूक कर रहे हैं। इसके अलावा जरूरतमंदो को अपने साथियों के माध्यम से सहयता के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन: काशी में कोई भूखा ना रहे, खुला भोले बाबा का दरबार

मंत्री ने बताया कि दोपहर 2 बजे से 7 बजे तक कार्यालय के काम निपटाते हैं। हर दिन 10 से 15 गन्ना अधिकारियों से बातचीत भी करते हैं। इसके अलावा मिलों के प्रबंधकों से फीडबैक लेते हैं। उन्होंने कहा शुगर मिलों से आह्वान किया है वह ज्यादा से ज्यादा सैनिटाइजर बनाने का कार्य करें।

वायरस में 70 प्रतिशत अल्कोहल इफेक्टिव

70 प्रतिशत अल्कोहल इस Corona वायरस के लिए इफेक्टिव है। इस पर काम चालू है। इसलिए कुछ यूनिटों ने सैनिटाइजर पर काम करना शुरू कर दिया है। बांकी बचे समय में किताबों का अध्ययन शुरू किया है। तीस वषरें में पहली बार 5 दिनों से घर पर हूं इसका एक अलग अनुभव है। समय का ज्यादा उपयोग कार्यालय, परिवार, आध्यात्म और अध्ययन के समन्वय में लगा है।

यह भी पढ़ें : कोरोना की गिरफ्त में विश्व की प्रमुख हस्तियां

चेतन सिंह चौहान कार्यालय का पूरा काम घर से देख रहे

होमगार्ड मंत्री चेतन सिंह चौहान लॉकडाउन में अपने कार्यालय का पूरा काम घर से ही देख रहे हैं। ज्यादातर टेलीफोन से लोगों को सुझाव दे रहे हैं। इसके अलावा खाली बचे समय में वह साफ-सफाई पर ध्यान दे रहे हैं। वह अपना शौचालय भी साफ कर रहे हैं। बचे समय में वह पत्नी के साथ ताश खेलना नहीं भूल रहे हैं।

स्वतंत्र देव सिंह दिनभर कार्यकर्ताओं से फीडबैक ले रहे

उधर, भारतीय जनता पार्टी के (भाजपा) प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह इन दिनों Corona से अलग तरीके से जंग लड़ रहे हैं। उनका जरिया बन हैं जिलों के भाजपा नेता और कार्यकर्ता। वह दिनभर कार्यकर्ताओं से फीडबैक ले रहे हैं साथ ही लोगों को अपने घरों में रहकर सोशल मीडिया के माध्यम से जागरूक करने का अभियान चलाने के लिए निर्देश भी दे रहे हैं। वह कोरोना को लेकर प्रदेशभर में जिलाध्यक्षों व अन्य पदाधिकारियों का फीडबैक लेना शुरू करते हैं।

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More