किलर कोरोना को लगा सोशल डिस्टेंसिंग का तगड़ा झटका

0 78

किलर कोरोना वायरस से पूरी दुनिया दो चार है। दुनिया का हर व्यक्ति इससे खौफजदा है। कोरोना वायरस के ही चलते सामाजिक नजदीकियों की राह पर चलने वाली दुनिया इन दिनों सोशल डिस्टेंसिंग का नया पाठ पढ़ रही है। दुनिया की एक तिहाई आबादी खुद को लोगों से दूर कर अपने घरों में कैद कर चुकी है। पूरी दुनिया के वैज्ञानिकों के लिए खतरनाक वायरस पर काबू कर पाना एक चुनौती बना हुआ है। पर इन सब के बीच एक राहत वाली खबर है। जी हां इसी सोशल डिस्टेंसिंग के नये पाठ ने किलर कोरोना को तगड़ा झटका दिया है। चीन में इस महामारी के फैलने की भविष्‍यवाणी करने वाले नोबल पुरस्कार विजेता ने दावा किया है कोरोना वायरस अब अपनी अंतिम सांसे गिन रहा है। जो इसी सोशल डिस्टेंसिंग के चलते संभव हो पाया है।

यह भी पढ़ें : …तो जल्द ‘कोरोना मुक्त’ होगी काशी, पूरी है तैयारी !

पूरी दुनिया कर रही है सोशल डिस्टेंसिंग का पालन
स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के बायोफिजिसिस्ट और नोबेल पुरस्कार विजेता माइकल लेविट ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग ने कोरोना के खिलाफ लड़े जा रहे जंग को एक जोरदार डोज दिया है। पूरी दुनिया सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रही है। जो इस महामारी से लड़ने के लिए जरूरी था। इसलिए कोरोना वायरस का कहर अब जल्द खत्म हो जाएगा। साल 2003 में रसायन विज्ञान में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले माइकल लेविट ने इससे पहले चीन में महामारी के बारे में भविष्यवाणी की थी। उन्होंने कहा था कि चीन में यह महामारी विनाशकारी प्रकोप लेकर आएगी। जिसमें हजारों लोगों की जान जायेगी।

यह भी पढ़ें : मंडियों में दिख रही है मनमानी तो दुकानों पर दिख रही है ‘सोशल डिस्टेंसिंग’

सोशल डिस्टेंसिंग का दिख रहा है असर
अमेरिकी मीडिया को दिये गये एक इंटरव्यू में नोबेल विजेता माइकल लेविट ने कहा है कि , ‘हमें कोविड-19 के बढ़ते खतरनाक प्रकोप को रोकने के लिए जो करना चाहिए, वो हम कर रहे हैं। अब हम सब ठीक होने जा रहे हैं। माइकल ने कहा कि परिस्थिति उतनी भयावह नहीं है, जितना डराया जा रहा है। भले कोरोना के मामले बढ़ रहे हों, लेकिन इसके विस्ताहर की गति में कमी आयी है। लेविट के इस दावे ने सोशल डिस्टेंसिंग की वकालत कर रहे वैज्ञानिकों को एक नयी उर्जा दी है।
बता दें कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ी जा रही जंग में दुनिया के बहुत से वैज्ञानिक ने सोशल डिस्टेंसिंग के प्रयोग पर सवाल उठाया है।

किलर कोरोना को लगा सोशल डिस्टेंसिंग का तगड़ा झटका किलर कोरोना वायरस से पूरी दुनिया दो चार है। दुनिया का हर व्यक्ति इससे खौफजदा है। कोरोना वायरस के ही चलते सामाजिक नजदीकियों की राह पर चलने वाली दुनिया इन दिनों सोशल डिस्टेंसिंग का नया पाठ पढ़ रही है। दुनिया की एक तिहाई आबादी खुद को लोगों से दूर कर अपने घरों में कैद कर चुकी है। पूरी दुनिया के वैज्ञानिकों के लिए खतरनाक वायरस पर काबू कर पाना एक चुनौती बना हुआ है। पर इन सब के बीच एक राहत वाली खबर है। जी हां इसी सोशल डिस्टेंसिंग के नये पाठ ने किलर कोरोना को तगड़ा झटका दिया है। चीन में इस महामारी के फैलने की भविष्‍यवाणी करने वाले नोबल पुरस्कार विजेता ने दावा किया है कोरोना वायरस अब अपनी अंतिम सांसे गिन रहा है। जो इसी सोशल डिस्टेंसिंग के चलते संभव हो पाया है।

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More