कोरोना का कहर : गोरों की तुलना में कालों को ज्यादा खतरा

0 270

पूरी दुनिया में लाइलाज कोरोना अपना कहर बरपा रहा है। लगतार संक्रमण और मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, वैश्विक स्तर पर कोविड-19 मामलों की कुल संख्या बढ़कर 1.15 करोड़ से अधिक हो गई है। वहीं मौतों की संख्या अब 5.3 लाख के पार गई है।

इस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका संक्रमण और मृत्यु की संख्या के मामले में लगातार दुनिया में शीर्ष पर बना हुआ है। यहां अब तक 29,35,008 लोग वायरस के संक्रमण का शिकार हो चुके हैं, वहीं दुनिया में सबसे अधिक 1,30,277 लोगों की मौत हो चुकी है।

नस्ल के आधार पर आंकड़ा जारी-

cdc

वहीं अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने कोरोना संक्रमण को लेकर नस्ल के आधार पर आंकड़ा जारी कर दिया है।

इन आंकड़ों के मुताबिक लैटिन और अफ्रीकी (काले) अमेरिकियों में गोरे अमेरिकी की तुलना में कोरोना संक्रमित होने का खतरा तीन गुना अधिक पाया गया है।

अमेरिका की एक हज़ार काउंटी के छह लाख 40 हज़ार लोगों के आधार पर यह आंकड़ा तैयार किया गया।

अमेरिकी सरकार ने यह आंकड़ा न्यूयार्क टाइम्स को उपलब्ध कराया है। न्यूयार्क टाइम्स ने फ्रीडम ऑफ इनफार्मेशन कानून के तहत अमेरिका की सरकार से यह आंकड़ा मांगा था।

कोरोना से जूझ रहा विश्व-

corona test

यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) के ताजा अपडेट के अनुसार, मंगलवार की सुबह तक कुल मामलों की संख्या 1,15,90,195 थी, जबकि इस घातक वायरस से दुनिया में मरने वालों की संख्या 5,37,429 हो चुकी थी।

यह भी पढ़ें : अमेरिका में बैठे इंजीनियर ने बेंगलुरु के घर को चोरों से ऐसे बचाया

यह भी पढ़ें : वैक्सीन भले तैयार न हो, अमेरिका फिर से खुलेगा

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्पडेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More