Congress leaves 7 Lok Sabha seats for SP-BSP RLD alliance

कांग्रेस ने यूपी में महागठबंधन के लिए छोड़ी सात सीटें, इन दलों से समझौता…

उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव के लिए भले ही कांग्रेस का सपा बसपा से गठबंधन न हुआ हो, लेकिन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने रविवार को प्रेसवार्ता के दौरान एलान किया है कि कांग्रेस ने यूपी में सपा-बसपा और आरएलडी गठबंधन के लिए सात सीटें छोड़ दी है। वहीं कांग्रेस ने अपना दल और जन अधिकारी पार्टी से गठबंधन और सीटों के समझौते की भी घोषणा की है। 

कन्नौज, मैनपुरी फिरोजाबाद की सीट छोड़ी:

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने आज पत्रकारों से बताया कि पार्टी ने यूपी में महागठबंधन के लिए सात सीटें छोड़ने का फैसला किया है। इनमें कन्नौज, मैनपुरी, फिरोजाबाद की लोकसभा सीटों का नाम शामिल हैं। बता दें कि इन तीनों सीटों से अखिलेश यादव का परिवार, कन्नौज से डिंपल यादव, मैनपुरी से मुलायम सिंह यादव और फिरोजाबाद से अक्षय यादव चुनाव लड़ेंगे।

ये भी पढ़ें:  सपा-बसपा गठबंधन की चुनौतियां कम नहीं, यहां फंसे पेंच…

मायावती और रालोद नेताओं के खिलाफ भी नहीं कांग्रेस नहीं लड़ेगी चुनाव:

वहीं कांग्रेस बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ भी अपना उम्मीदवार नहीं उतारेगी। जिस भी लोकसभा सीट से मायावती चुनाव लड़ेंगी, वहां की सीट कांग्रेस ने छोड़ दी है। इसके अलावा रालोद के लिए भी कांग्रेस ने दो सीट छोड़ी हैं, जिन सीटों से रालोद राष्ट्रीय अध्यक्ष अजित सिंह और जयंत चौधरी चुनाव लड़ेंगे, कांग्रेस वहां भी अपना उम्मीदवार नहीं उतारेगी। गौरतलब है कि इससे पहले महागठबंधन ने भी कांग्रेस के लिए अमेठी और रायबरेली दो सीटें छोड़ दी थीं।

अपना दल (कृष्णा पटेल) से दो और जेएपी से सात सीटों पर समझौता:

इतना ही नहीं कांग्रेस ने अपना दल (कृष्णा पटेल) को भी दो सीटें देने का फैसला किया है, इनमें गोंडा और पीलीभीत का नाम शामिल हैं। वहीं जन अधिकार पार्टी के साथ भी कांग्रेस का सात सीटों पर समझौता हुआ है। जन अधिकारी पार्टी (जेएपी) पांच सीटों पर अपने पार्टी सिम्बल और दो सीटों पर कांग्रेस के चिन्ह पर चुनाव लड़ेगी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)