कोरोना महामारी पर काबू पाकर बॉक्स ऑफिस पर सबसे ज्यादा कमाई करने वाला देश बना चीन

0 166

कोरोनावायरस महामारी के कारण लगभग पूरी दुनिया के सिनेमाघर बंद हो गये। लेकिन अब भारत ने अपने कुछ सिनेमाघरों को दोबारा खोल दिया है। उन सिनेमाघरों को निर्धारित क्षमता के अधिकतम 50 प्रतिशत दर्शकों के साथ खोलने की अनुमति मिली है, साथ ही उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग और गृह मंत्रालय की एडवाइजरी का पूरी तरीके से पालन करना होगा। वहीं, चीन की बात की जाए तो इस कोरोना काल में चीन का फिल्म बाजार बुलंदी के झंडे गाड़ रहा है। अभी कुछ महीने पहले, चीनी फिल्म बाजार महामारी के कारण एकदम ठंड़ा पड़ा था, लेकिन बहुत ही कम समय में कोरोना के प्रभाव से उभर गया है, और बॉक्स ऑफिस पर अच्छी खासी कमाई कर रहा है। इस महीने के मध्य में, चीन का बॉक्स ऑफिस बाजार 12.9 अरब युआन (130 अरब रुपए) तक पहुंच गया, जो इतिहास में पहली बार हुआ है कि चीनी बॉक्स ऑफिस ने उत्तरी अमेरिका को आधिकारिक तौर पर पछाड़ दिया है और दुनिया में सबसे अधिक बॉक्स ऑफिस पर कमाई करने वाला देश बन गया है।

चीन ने प्रभावी ढंग से कोरोना महामारी पर पाया काबू

दरअसल, सबसे पहले चीन ने प्रभावी ढंग से कोरोना महामारी पर काबू पाया, और देश भर के सिनेमाघरों ने धीरे-धीरे अपना बिजनेस फिर से शुरू किया। चीन की राष्ट्रीय दिवस की छुट्टियों के बाद, सिनेमाघरों की उपस्थिति सीमा 50 प्रतिशत से बढ़ाकर 75 प्रतिशत कर दी गई।

इस साल राष्ट्रीय दिवस की छुट्टियों के दौरान बॉक्स ऑफिस पर कमाई 3.9 अरब (40 अरब रुपए) युआन की हुई, जिससे यह इतिहास में चीन में दूसरा सबसे बड़ा राष्ट्रीय दिवस अवकाश बॉक्स ऑफिस बन गया। आठ दिनों की छुट्टियों के दौरान, लगभग 10 करोड़ लोग सिनेमा देखने गए। इन आंकड़ो से प्रतीत होता है कि चीन का फिल्म बाजार दुरुस्त हो गया है।

चीनी फिल्म बाजार के उठने में महत्वपूर्ण भूमिका

एक चीज और चीन की घरेलू फिल्मों की गुणवत्ता में सुधार ने भी चीनी फिल्म बाजार के उठने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। अभी हाल में रिलीज हुई चीनी कॉमेडी फिल्म माई पीपल, माय होमलैंड में कई हास्य तत्व हैं और मनोरंजक भी है, जिसने राष्ट्रीय दिवस की छुट्टियों के दौरान खूब कमाई की और चीनी फिल्म बाजार का नेतृत्व किया। यह फिल्म युवा दर्शकों को बहुत पसंद आयी।

इसके अलावा, 100 प्रतिशत घरेलू एनीमेटिड फिल्म लीजेंड ऑफ डेफिकेशन, जिसमें लगभग 70 प्रतिशत स्पेशल इफेक्ट हैं, ने दर्शकों को एक पौराणिक दुनिया के शानदार ²श्यों से परिचित करवाया। यानी कि चीनी कहानियों को अच्छी तरह से बताना और दर्शकों की अपेक्षाओं को पूरा करना घरेलू फिल्म बाजार को उठाने का गुरूमंत्र है।

हालांकि, चीन सरकार ने फिल्म उद्योग को बचाने के लिए कई उपाय किए हैं। देश के कई शहरों में सिनेमा टिकटों पर छूट दी गई हैं। लोग आसानी से स्थानीय सरकारों द्वारा ऑनलाइन उपलब्ध कराए गए मूवी कूपन हासिल कर सकते हैं। सिनेमाघरों में दर्शकों को आकर्षित करने के लिए प्रोडक्शन कंपनियां भी अपनी फिल्मों की स्क्रीनिंग करने को तैयार हैं।

खैर, सभी लोगों के संयुक्त प्रयासों से, चीनी फिल्मों को महामारी की जंग लड़ने के बाद संतुष्टिदायक प्रतिक्रिया मिल रही है। इसके अलावा, सिनेमाघर सीमित उपस्थिति के साथ संचालन करने और महामारी की रोकथाम और नियंत्रण उपायों को लागू करने के लिए प्रयास कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: नवरात्रि के पहले दिन CM योगी ने बलरामपुर को दी सवा 5 सौ करोड़ की सौगात

यह भी पढ़ें: बलिया कांड : आरोपी के लिए फूट-फूटकर रोए बीजेपी विधायक, बताई गोली चलाने की असली वजह…

यह भी पढ़ें: प्रदेश में IPS और PPS अधिकारियों का हुआ तबादला, मिली बड़ी जिम्मेदारी

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)
Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More