PAD

नशे के लिए बच्चे कर रहे सैनेटरी पैड और डायपर का इस्तेमाल

नशा एक ऐसी बला है जिसको लग जाती समझो वो खत्म। नशे के लिए न जाने लोग क्या क्या जतन करने लगते हैं। ऐसा ही एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है। बच्चे नशे के लिए प्रयोग किए गए सेनेटरी (sanitary) पैड और डायपर का प्रयोग कर रहे हैं।

जी हां, चौंकिए नहीं दरअसल, इंडोनेशिया में नशे के लिए बच्चे महिलाओं और बच्चों के प्रयोग किए हुए सेनेटरी पैड और डायपर का प्रयोग करते हैं।

उबलने के बाद जो बचता है बच्चे नशा करते हैं

वे प्रयोग किए जा चुके सेनेटरी पैड और डायपर को पानी में उबालकर इसका लिक्विड बना रहे हैं। उबलने के बाद जो बचता है बच्चे नशा करते हैं।

13 से 16 साल के टीनेजर इस नशे की गिरफ्त में हैं। रिपोर्ट में अनुसार इस उबले पाने को पीने से अजीबो गरीब नतीजी सामने आते हैं। इस पानी को पीने से बच्चों को हवा में उड़ने का एहसास होता है।

14 साल के बच्चे ने खुद स्वीकारा है कि वो इस पानी को दिन में तीन बार पीता है मतलब सुबह दोपहर और शाम नशे के तौर पर पीता है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)