मुश्किल घड़ी को पार कर चांद के रास्ते पर निकला चंद्रयान-2

भारत के दूसरे चंद्र अभियान, चंद्रयान-2 ने आज तड़के पृथ्‍वी की कक्षा छोड़कर चंद्रमा की ओर बढ़ना शुरू कर दिया।

इससे पहले भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन-इसरो ने चंद्रयान-2 को चंद्रमा तक पहुंचाने की महत्‍वपूर्ण प्रक्रिया सफलतापूर्वक पूरी की।

यह प्रक्रिया आज तड़के दो बजकर 21 मिनट पर पूरी हुई जिसके बाद चंद्रयान-2 चंद्रमा पर उतरने की स्थिति में आ गया है।

अंतरिक्ष में नए प्रक्षेप पथ में चंद्रयान-2 का प्रवेश इसे चंद्रमा की कक्षा के और पास ले जाएगा। पृथ्वी से चंद्रमा की केंद्रीय कक्षा तक लगभग चार लाख किलोमीटर की दूरी अब केवल सात दिनों में पूरी हो जाएगी।

20 अगस्‍त को चंद्रमा की कक्षा में पहुंचेगा चंद्रयान-2-

शुरू में पृथ्वी की परिक्रमा करना और फिर धीरे-धीरे चरणबद्ध तरीके से दूरी बढ़ाना तथा अंत में चंद्रमा तक पहुंचना किफायती तरीका माना जाता है।

हालांकि इससे मिशन में थोड़ा अधिक समय लगता है। स्वतंत्रता दिवस से ठीक एक दिन पहले चंद्रयान-2 को अंतिम कक्षा में स्‍थापित करने की प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा इसके एक और महत्वपूर्ण चरण को दर्शाता है।

चंद्रयान-2 के 20 अगस्‍त को चंद्रमा की कक्षा में पहुंच जाने की सम्‍भावना है। सात सितंबर को यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंच जाएगा।

यह भी पढ़ें: चंद्रयान-2 लगातार बढ़ रहा अपनी मंजिल की ओर, पहली बार भेजी तस्वीरें

यह भी पढ़ें: ‘चंद्रयान-2’ के बाद ISRO का अगला अभियान ‘सूर्य मिशन’

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)