‘हर घर को बिजली’, एजेंडे पर काम तेज

देश में बिजली की हालत सुधारने के लिए मोदी सरकार ने अहम बैठक बुलाई है। राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के विद्युत, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा और खान मंत्रियों का दो दिन का सम्मेलन तीन-चार मई को यहां आयोजित किया जाएगा।

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पियूष गोयल करेंगे ऊर्जा मंत्रियों के साथ बैठक

दो दिन के इस सम्मेलन का उद्देश्य विभिन्न जारी कार्यक्रमों के कार्यान्वयन की समीक्षा करना और विद्युत, कोयला, नवीकरणीय ऊर्जा और खानों से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर व्यापक विचार-विमर्श करना है। इस सम्मेलन का उद्घाटन केंद्रीय विद्युत राज्य मंत्री पीयूष गोयल करेंगे।

3 और 4 मई को दिल्ली में होगी बैठक

राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के मंत्री और सचिव तथा उनके अंतर्गत काम करने वाले इन चारों क्षेत्रों और सार्वजनिक क्षेत्र के प्रतिष्ठानों के वरिष्ठ अधिकारी सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।

24 घंटे बिजली देने पर पियूष गोयल लेंगे फीड बैक

इसमें सबके लिए सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे विद्युत कार्यक्रम के कार्यान्वयन से संबंधित विभिन्न मुद्दों, शत-प्रतिशत परिवारों के विद्युतीकरण संबंधी कार्यनीतियों और कार्य योजना तथा स्मार्ट मीटरिंग विद्युत सुधार, ऊर्जा संरक्षण, ऊर्जा सक्षम कृषि पंप, साइबर सुरक्षा और विद्युत क्षेत्र में डिजिटल भुगतानों को प्रोत्साहित करने जैसे मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जाएगा।

नवीकरणीय परियोजनाओं पर दिया जाएगा निर्देश

नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में राज्यों के मंत्री नवीकरणीय परियोजनाओं के लिए दिशा-निर्देशों पर विचार करेंगे। सम्मेलन के समापन सत्र में प्रतिनिधियों द्वारा सम्मेलन प्रस्ताव पारित किया जाएगा और राज्यों संघ शासित प्रदेशों से टिप्पणियां और फीडबैक प्राप्त किए जाएंगे।