Central government Tried to developing security app

घर से निकलने से पहले ऐसे जानें, रास्ते में कोई कोई खतरा तो नहीं…

केंद्र सरकार आम जनता की सुरक्षा को लेकर एक नया प्रयास शुरू करने जा रही है, जिसके जरिये किसी रास्ते से जाने से पहले आप ये जान सकेंगे कि वहां किसी अपराध के होने का खतरा तो नहीं। ये प्रयास महिलाओं की सुरक्षा के लिए ख़ास कारगार साबित हो सकता है। वहीं इसके जरिये अपराध पर भी लगाम लगाई जा सकती है।

केंद्र सरकार तैयार करवा रहा ऐप:

बता दें कि इसके लिए एक ऐप तैयार किया जा रहा है। अभी पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर पुणे शहर में इसकी टेस्टिंग चल रही है। सूत्रों के मुताबिक़ इसे दिल्ली में, फिर बाकी शहरों में लागू किया जाएगा। इस ऐप में जैसे ही आप अपनी मंजिल का पता डालेंगे, वह आपको सेफ रास्ता 0 से 5 तक रेटिंग में बताएगा।

ये भी पढ़ें: आर्टिकल 370 के बाद मोदी सरकार का अगला एजेंडा देगा पाक को झटका

गौरतलब है कि स्मार्ट सिटी प्रोग्राम के तहत हर गली, सड़क, बस, स्ट्रीट लाइट, पुलिस स्टेशन, मार्केट सभी की जीआईएस मैपिंग की जा रही है। अभी मंत्रालय 100 स्मार्ट सिटी पर काम कर रहा है, जिनमें दिल्ली का एनडीएमसी एरिया भी है।

यह मोबाइल ऐप 5 पैमानों पर मुख्य रूप से काम करेगा..

पहला: आपके चुने हुए रास्ते पर कितने पुलिस स्टेशन हैं?

दूसरा: बस स्टॉप की लोकेशन और ट्रैफिक की स्थिति क्या है?

तीसरा: रास्ते का एरिया कैसे हैं? मार्केट, खाली जमीन, कॉलोनी या सूनसान जगह?

चौथा: स्ट्रीट लाइट की स्थिति कैसी है? रात में जल रही है या बंद है?

पांचवा: रास्ते में पड़ने वाले इलाकों की लाइव ट्रैकिंग