उन्नाव रेप केस में अब ये चौंकाने वाली बात आई सामने…

उत्तर प्रदेश के उन्नाव रेप केस में एक साल बाद सीबीआई ने कोर्ट में भाजपा से विधायक रहे आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर की हैवानियत का खुलासा किया है। सीबीआई ने कोर्ट को बताया कि आरोपी सेंगर के खिलाफ अपहरण, बलात्कार, साजिश और धमकाने के आरोप साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं।

सीबीआई ने पास कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ सबूत:

दरअसल, बुधवार को तीस हजारी कोर्ट में सीबीआई ने दावा किया कि उन्नाव रेप पीड़िता को धोखे से विधायक के आवास पर लाया गया, जहां उससे रेप हुआ। घटना के वक्त पीड़िता 18 साल की नहीं थी, इसीलिए पॉक्सो प्रावधान में भी सेंगर और शशि सिंह आरोपी हैं।

वहीं बचाव पक्ष ने दलील दी कि पीड़िता के बयान अविश्वसनीय हैं। बचाव पक्ष ने उस समय पीड़िता के बालिग होने का भी दावा किया। मामले में अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी।

ये भी पढ़ें: BJP MLA के बिगड़े बोल – अब गोरी कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे कार्यकर्ता

किशोरी संग किया था दुष्कर्म :

बता दें कि उन्नाव के माखी गाँव निवासी भाजपा के पूर्व नेता और विधायक कुलदीप संघ सेंगर पर एक नाबालिग लड़की संग सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया था, जिसके बाद पीडिता और उसके पिता ने विधान सभा के सामने आत्मदाह का प्रयास किया जिसपर मामले ने तूल पकड़ा और विधायक के खिलाफ कार्रवाई शुरू हुई।

वहीं हाल में ही पीड़िता के साथ सड़क हादसा हो गया, जिसमें उसकी मौसी और चाची की मौत हो गयी, वहीं स्वयं पीड़िता और उनका वकील गंभीर घायल हो गये। इस दौरान एक बार फिर इस मामले में बड़ा खुलासा हुआ की जेल में होने के बाद भी आरोपी विधायक के गुर्गे लगातार पीडिता को धमका डरा रहे थे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)