कश्मीर की इस बेटी ने किया देश का नाम रौशन, अमेरिका को हराकर जीता गोल्ड मेडल

सफलता  की बुलंदियों पर पहुंचने के लिए जरूरी नहीं होता कि इंसान उम्रदराज होना चाहिए या उसे पढ़ाई पूरी करने के बाद ही सफलता मिल सकती है। क्योंकि इंसान के अंदर छिपे टैलेंट को जब इंसान पहचान लेता है तो उसे रोक पाना किसी के बस की बात नहीं होती है।

और सफलता को उसके कदमों में झुकना ही पड़ता है। कुछ ऐसी ही कहानी है  कश्मीर के बांदीपोरा इलाके में रहने वाली नन्हीं सी बच्ची की, जिसने छोटी सी उम्र में विदेशों में जाकर अपने देश का नाम रौशन कर इतिहास रचाया है। जी हां हम बात कर रहे हैं तजामुल इस्लाम की जिसने हाल में इटली के एंड्रिया में अमेरिकी प्रतिद्वंद्वी को हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

इस विजय के बाद जब तजामुल भारत पहुंची तो खुद तत्कालीन सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग ने उन्हें सम्मानित किया। इस सम्मान समारोह में जनरल सुहाग ने तजामुल की जमकर प्रशंसा की।उन्होंने कहा कि तजामुल ने देश को गौरवान्वित किया है। सेना प्रमुख ने उम्मीद जताई कि तजामुल की इस सफलता से घाटी के अन्य बच्चे प्रेरित होंगे।

Also read : घर पर ही पढ़कर पाया ये मुकाम, करने जा रही हैं ये काम

इसके बाद तजामुल ने जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती से भी मुलाकात की जहां सीएम ने भी कश्मीर की इस नन्हीं बेटी की खूब प्रशंसा की।तजामुल के किक बॉक्सिंग में पदक जीतने की शुरुआत वर्ष 2005 में जम्मू में आयोजित राज्य स्तर की चैंपियनशिप से हुई। उस चैंपियनशिप में उन्होंने स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। उसके बाद उन्होंने उसी वर्ष नेशनल किक बॉक्सिंग में सब-जूनियर वर्ग में पहला स्थान भी हासिल किया था।