savitri bai fule

BJP को हराने के लिए ‘महागठबंधन’ का साथ देंगी सावित्री बाई फूले

हाल ही में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देकर सुर्खियों में आई बहराइच सांसद सावित्री (Savitri) बाई फूले ने भाजपा के खिलाफ पूरी तरह से मोर्चा खोल दिया है। सावित्रीबाई फूले ने शुक्रवार को राजधानी लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेस करके जोरदार हमला बोला है।

साथ ही ऐलान किया है कि बहुजन समाज के लोगों को उनका अधिकार दिलाने और भाजपा को हराने के लिए महागठबंधन का साथ देंगी। 2019 मोदी को पीएम बनने से रोकने वाले बीजेपी को हराने के लिए जो भी राजनीतिक दल आगे आएँगे हम उसका समर्थन करेंगे।

सवर्णो को आरक्षण देने पर भड़की बहराइच सांसद सावित्री बाई फुले ने कहा कि वर्तमान मोदी सरकार ने आरएसएस के इशारे पर संविधान की मूल भावना के खिलाफ आरक्षण देने का फैसला किया है। जिससे भविष्य में दलितों और पिछड़ों को भी आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाएं। मोदी सरकार के सवर्णों को आरक्षण दिए जाने वाले फैसले पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि ऊंची जातियों को आरक्षण देना भारतीय संविधान के साथ खिलवाड़ है।

Also Read :  अखिलेश ने दिया नारा : ‘भाजपाईयों का धोखा बोलता है’

सवर्ण समाज के लोग आज किस मुंह से खुशी मना रहे हैं?क्यों मोदी जी सवर्ण समाज कोअछूत बना रहे हैं ?भारत मे तत्काल जातीय जनगणना कराई जाए सावित्री बाई खूले ने कहा कि तत्काल देश की जनगणना कराई जाए और उसके बाद ही आरक्षण में भागीदारी दी जाए।

क्या सवर्ण समाज के लोग दलितों से रोटी बेटी का सम्बंध रखेगे।पिछड़ो के वर्गीकरण करके उनमें फूट डालने का काम किया जा रहा है। सवर्ण समाज के साथ एससीएसटी ओबीसी को भी प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण दिया जाए। बहराइच सांसद ने कहा कि प्रमोशन में आरक्षण की व्यवस्था को क्यों नही शुरू किया जा रहा है।भारत मे तत्काल जातीय जनगणना कराई जाए और आरक्षण में भागीदारी उसके बाद दी जाए।लोकसभा और राज्यसभा में सांसद इसका विरोध कर रहे हैं। साथ ही कहा कि समान विचारधारा के लोगों से अपील है एक होकर इन मनुवादियो से लड़ना होगा।

सवर्णों को आरक्षण देकर दलितों और पिछड़ों के अधिकारों का हनन

सावित्री बाई ने कहा कि सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण देकर पिछड़ों, दलितों और आदिवासियों के अधिकारों का हनन किया जा रहा है। दलित पिछड़े आदिवासियों मूल निवासियो को भागीदारी दी जाएं
। पीएम मोदी कार्यपालिका में एससीएसटी ओबीसी के आरक्षण को खत्म कर रहे हैं। पीएम भारतीय संविधान को खत्म करने की साजिश कर रहे हैं।

मोहन भागवत ने कहा था आरक्षण की समीक्षा करना चाहते है। बीजेपी के मंत्री संविधान को खत्म करने की बात करते हैं। सवर्णो को 10 प्रतिशत आरक्षण देकर देश के दलित,पिछड़े,आदिवासी समाज के लोगों का हनन किया जा रहा है।

मोदी जी दलित पिछड़े आदिवासी समाज के लोगों के वोट के अधिकार को भी बड़ी बारीकी से खत्म करने की साजिश कर रहे हैं। ईवीएम मशीन इसका उदाहरण है उसके सहयोग से मोदी जी फिर से देश की सत्ता में आना चाहते हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)