लोकतंत्र में आवाज उठाना जुल्म नहीं : प्रियंका गांधी

0 0

आजमगढ़ के एक दिवसीय दौरे से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को कहा कि लोकतंत्र में आवाज उठाना जुल्म नहीं है।

प्रियंका ने ट्वीट किया, ‘लोकतंत्र में आवाज उठाना जुल्म नहीं है और मेरा कर्तव्य है कि जिनके साथ जुल्म हो रहा है, मैं उनके साथ खड़ी होऊं।’

आजमगढ़ में प्रियंका गांधी-

आजमगढ़ में प्रियंका के सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों के परिजनों से मुलाकात की संभावना है। जिले के बिलरियागंज में चार फरवरी को संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन हुआ था ।

प्रियंका ने ट्वीट के साथ एक फोटो भी लगाया है, जिसमें कैफी आजमी का शेर है, ‘सब उठें, मैं भी उठूं, तुम भी उठो, तुम भी उठो। कोई खिड़की इसी दीवार में खुल जाएगी।’

मुसलमान महिलाओं का धरना-

बिलरियागंज में कई मुसलमान महिलाओं ने मंगलवार को मौलाना जौहर पार्क में धरना शुरू किया। यह धरना सीएए और एनआरसी के खिलाफ था लेकिन उन्हें पुलिस ने जबरन हटा दिया।

पुलिस ने बताया कि 35 नामजद लोगों और सौ से अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है। इनमें से 20 को गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढ़ें: यूपी की दलित पॉलिटिक्स में अब प्रियंका गांधी की एंट्री

यह भी पढ़ें: Delhi Election Results 2020 : BJP ने स्वीकार की हार, लगे पोस्टर!

 

 

 

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More