chalang

चयनित न होने वाले अभ्यर्थियों ने गोमती में लगाई छलांग

सहायक अध्यापक भर्ती में चयनित न हो पाने वाले अभ्यर्थियों ने शनिवार को यूपी की राजधानी लखनऊ की गोमती नदी में छलांग लगा दी। नियुक्ति की मांग को लेकर राजधानी लखनऊ के लक्ष्मण मेला पार्क के तट से नदी में छलांग लगा दी।

आपको बता दें कि शनिवार को सुबह से ये लोग प्रदर्शन कर रहे थे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल से मिलने की कोशिश की थी, लेकिन वहां वे असफल हो गए। बीते कुछ दिनों से योगी सरकार की शिक्षकों को लेकर अनदेखी से नाराज शिक्षक लगातार प्रदर्शन कर रहे है। चाहे वो वित्त विहीन शिक्षक हो या विशिष्ट बीटीसी। इस दौरान भारत माता की जय के लगाए नारे।

महिला शिक्षकों ने मुंडवाया था सिर

बुधवार को यूपी की राजधानी लखनऊ में हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा के पास प्रदर्शन किया था। इस दौरान कई महिला शिक्षकों ने अपना सिर मुंडवा कर विरोध दर्ज किया। शिक्षकों ने भीख मांग करऔर मुंडन करा कर प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों को पुलिस प्रशासन ने हिरासत में लेकर जबरन हटा दिया।

Also Read :   अखिलेश यादव ने सीएम योगी को समझाया राजधर्म

बता दें कि मानदेय को लेकर मंगलवार से वित्तविहीन शिक्षक प्रदर्शन कर रहे थे। अपने पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम के अनुसार वे बुधवार को भी प्रदर्शन कर रहे हैं। सरकार की ओर से लगातार हो रही अनदेखी से नाराज शिक्षकों ने गांधी प्रतिमा पर मुंडन कराकर और भीख मांग कर प्रदर्शन किया। वित्तविहीन शिक्षक महासभा’ के बैनर तले ये एकजुट हुए थे।

सीएम ने कसा था तंज

योगी ने दो टूक कहा कि जो लोग सोच रहे हैं कि सिर मुंड़वाकर बिना कॉम्पिटिशन नौकरी मिल जाएगी तो यह संभव नहीं है। उन्होंने कहा, ‘ मैं देख रहा हूं कि कुछ लोग अपने सिर मुंड़वाकर मांग कर रहे हैं कि बिना किसी कॉम्पिटीशन उनकी भर्ती की जा सकती है।’ बता दें कि लखनऊ में शिक्षक दिवस के मौके पर माध्यमिक वित्तविहीन शिक्षकों ने अपने सिर मुंड़वाकर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि हमारे पास प्राइमरी शिक्षा में 97 हजार वैकेंसी हैं लेकिन उनका सेलेक्शन मेरिट के आधार पर किया जाना हमारी प्राथमिकता है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)