Arvind Kejariwal

दिल्ली पुलिस की पूछताछ नोटिस पर केजरीवाल की जवाबी चिट्ठी

चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश पर हुए कथित हमले के मामले में पूछताछ का नोटिस मिलने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पुलिस को जवाबी चिट्ठी लिखी है। इसमें उन्होंने कहा है कि वह चाहते हैं कि जांच के दौरान पूरी कार्रवाई की विडियो रेकॉर्डिंग हो। उन्होंने पुलिस से कहा है कि अगर इसमें उन्हें कोई आपत्ति है, तो वह अपने स्तर पर विडियो रेकॉर्डिंग कराने का इंतजाम करें और ऐसे में पूछताछ के बाद उसकी एक कॉपी उन्हें भी मुहैया कराएं। बता दें कि शुक्रवार को केजरीवाल से पूछताछ होगी।

आज शाम को होगी पूछताछ

दिल्ली पुलिस ने बुधवार को सीएम को नोटिस भेजकर कहा था कि वह शुक्रवार की सुबह 11 बजे पूछताछ के लिए अपने घर या दफ्तर में मौजूद रहें। इसके जवाब में सीएम ने सिविल लाइंस थाने के एसएचओ को चिट्ठी लिखकर कहा है कि उनके पहले से कुछ कार्यक्रम तय हैं, इसलिए वह सुबह 11 बजे नहीं मिल सकेंगे। उन्होंने पुलिस से कहा है कि वह सुबह के बजाय शुक्रवार की शाम 5 बजे उनके कैंप ऑफिस में आ जाएं। सीएम का यह ऑफिस सिविल लाइंस स्थित उनके आवास पर ही बना हुआ है, जहां वह हर हफ्ते आम लोगों से मिलकर उनकी शिकायतें सुनते हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जांच अधिकारी ने केजरीवाल का अनुरोध स्वीकार कर लिया है और अब उनसे शुक्रवार शाम 5 बजे पूछताछ की जाएगी।

Also Read : सुप्रीम कोर्ट का आदेश, कल कराया जाए शक्ति परीक्षण

विडियो रिकॉर्डिंग तो होगी, पर कॉपी नहीं मिलेगी

सीएम के साथ शुक्रवार शाम होने वाली पूछताछ की विडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि केजरीवाल का बयान सीआरपीसी के सेक्शन 161(3) के तहत दर्ज दिया जाएगा, जिसमें यह प्रावधान है कि लिखित में बयान दर्ज करने के साथ-साथ अगर पुलिस को जरूरत महसूस होती है तो वह पूछताछ की प्रक्रिया की अलग से विडियो रिकॉर्डिंग कर सकती है।

पुलिस कर रही है दावा

पुलिस सूत्रों ने यह भी कहा कि सीएम भले ही इस मामले में सीधे तौर पर आरोपी ना हों लेकिन चूंकि पूरा घटनाक्रम उनकी मौजूदगी में और उनके घर पर हुआ है, इसलिए पूछताछ की इस प्रक्रिया की अपने स्तर पर विडियो रिकॉर्डिंग कराने के लिए वह अधिकृत नहीं है और ना ही पुलिस उन्हें इसकी इजाजत देगी। इसके अलावा सूत्रों ने यह भी साफ कर दिया है कि सीआरपीसी के प्रावधानों के तहत दर्ज किए गए बयान या विडियो रिकॉर्डिंग की कॉपी उन्हें देना जरूरी नहीं है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)