धारा 370 : गिलगित-बाल्टिस्तान ने की भारत से जुड़ने की मांग

धारा 370 पर भारत की संसद में चल रही चर्चा को गिलगित-बाल्टिस्तान के लोग भी गंभीरता से देख रहे हैं। वे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के एक-एक तर्क को गौर से सुन रहे हैं। अब उनकी प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी हैं।

इस बीच अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे गिलगित-बाल्टिस्तान के एक कार्यकर्ता सेंगे एच. सेरिंग ने गृहमंत्री शाह से मांग ​की है कि वे भारत के साथ जुड़ना चाहते हैं। उन्हें भी भारतीय संविधान में प्रतिनिधित्व मिले।

बता दें कि यह हिस्सा फिलहाल पाकिस्तान के कब्जे में है और वहां के लोग भारत में वापसी को लेकर मुहिम चला रहे हैं।

गिलगित-बाल्टिस्तान भारत का अभिन्न हिस्सा-

गिलगित-बाल्टिस्तान के एक कार्यकर्ता सेंगे एच. सेरिंग ने कहा, ‘हम मानते हैं कि गिलगित—बाल्टिस्तान भारत का अभिन्न हिस्सा है। हम लद्दाख का विस्तार हैं और हम भारतीय संघ और ​संविधान के तहत अपने लिए अधिकार की मांग करते हैं।

उन्होंने कहा कि वहां कि विधायी इकाई में हम अपना प्रतिनिधित्व मांगते हैं। जो केंद्र शासित प्रदेश बने हैं वहां के रिजर्व सीटों पर गिलगित-बाल्टिस्तान के लिए सीटें होनी चाहिए। हम समझते हैं कि राज्यसभा और लोकसभा में हमारा प्रतिनिधित्व होना चाहिए। हम अभिन्न हिस्सा है।

यह भी पढ़ें: कश्मीर में प्लॉट और घर चाहिए?

यह भी पढ़ें: अनुच्छेद 370 में ही छिपा है उसे खत्म करने का राज

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)