ramlila

सांकेतिक फोटो

धनुष तोड़ने के बाद असल जिंदगी में शादी करेंगे ‘सीता राम’

 वाराणसी के भदोही के ऊंज क्षेत्र के कुरमैचा गाव में आदर्श रामलीला समिति की ओर से संचालित रामलीला में धनुष यज्ञ के दिन मंच पर एक जोड़ा अग्नि के सात फेरे लेगा और उनकी विधि विधान से शादी(marriage) संपन्न कराई जाएगी। क्षेत्र में यह पहला मौका है जब रामलीला के मंच पर वास्तविक शादी होगी।

एक जोड़े की शादी का समारोह आयोजित किया गया है

धनुष टूटते ही इस जोड़े को राम सीता के स्‍वरूप में विवाह मंडप में बैठा दिया जाएगा जहां मंत्रों के बीच यह एक दूसरे के साथ जन्म जन्मांतर तक जुड़ जाएंगे। समिति के अध्यक्ष अच्छेलाल बिंद ने बताया कि गांव में चल रहे रामलीला कार्यक्रम में मंच पर एक जोड़े की शादी का समारोह आयोजित किया गया है।

रामलीला मंच से संपन्न कराने का निर्णय लिया गया है

गांव में 14 अक्टूबर को रामलीला मंचन में धनुष यज्ञ की लीला के बाद वास्तविक जोड़ों का विवाह रामलीला मंच से विधि विधान से संपन्न कराया जाएगा। जिसमें पुरोहित समेत बड़ी संख्या में बराती, रामलीला दर्शक व दोनों पक्षों के लोग विवाह के साक्षी बनेंगे। दरअसल आर्थिक तंगी झेल रहे गांव के ही निवासी मोहन लाल बिंद की बेटी सीमा की शादी गोपीगंज क्षेत्र के मूलापुर गांव निवासी बाबूलाल के साथ रामलीला मंच से संपन्न कराने का निर्णय लिया गया है।

Also Read :  अखिलेश यादव के ‘महल में चलेगा ‘राजा भैया का राज!’

समिति के अध्यक्ष ने बताया कि पिछले कई वषरें से रामलीला मंच से शादी कराने का प्रयास किया जा रहा था मगर जोड़ा न मिल पाने से प्रयास सार्थक नहीं हो पाया था। इस वर्ष ग्राम प्रधान संगीता के प्रयास से वर और कन्या पक्ष के परिजनों से बात करने के उपरात यह कार्यक्रम तय किया गया है।

मंच पर शादी के उपरात समिति की ओर से कन्या पक्ष को उपहार देकर कन्यादान की भी रस्म पूरी की जाएगी। रामलीला में अनोखा मंचन को लेकर क्षेत्र में जोरों पर चर्चा है। धनुष यज्ञ के दिन की रामलीला को लेकर क्षेत्र के लोग भी उत्सुक हैं। इस अनोखी शादी में शामिल होने के लिए क्षेत्र के लोग भी तैयारी में जुटे हैं। साभार

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)