अभिनंदन वर्धमान को असाधारण बहादुरी के लिए मिलेगा ‘वीर चक्र’

पाकिस्तान की सरजमीं पर भारत की वीरता का प्रदर्शन करने वाले भारतीय वायुसेना के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को सैन्य सम्मान ‘वीर चक्र’ से सम्मानित किया जाएगा। वीर चक्र भारत में युद्ध के समय दिया जाने वाला तीसरा सर्वोच्च सम्मान है।

विंग कमांडर अभिनंदन के साथ-साथ स्क्वार्डन लीडर मिंती अग्रवाल को युद्ध सेवा मेडल दिया जाएगा। मिंती को यह पुरस्कार बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हवाई संघर्ष के दौरान दिए गए उनके योगदान के लिए दिया गया है।

साथ ही भारतीय सेना के 1 राष्ट्रीय राइफल्स के सैपर प्रकाश जाधव को 15 अगस्त को जम्मू और कश्मीर में एक ऑपरेशन में उनकी वीरतापूर्ण भूमिका के लिए कीर्ति चक्र (मरणोपरांत) से सम्मानित किया जाएगा। सेना के आठ जवानों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया, जिनमें से पांच मरणोपरांत है।

विंग कमांडर अभिनंदन की बहादुरी-

गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में 40 भारतीय जवान शहीद हो गए थे।

इस हमले के ठीक 13 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकी कैंपों को ध्वस्त कर दिया था। इस हमले में कई आतंकियों के मारे जाने की खबर मिली थी।

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने दो दिन बाद अपने एफ-16 लड़ाकू विमान से भारत के नियंत्रण रेखा में घुसने की कोशिश की। उस समय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने मिग-21 से पाकिस्तानी विमान को वापस खदेड़ दिया।

हालांकि वे इजेक्ट होने के दौरान पाकिस्तानी सीमा में जा गिरे। इसके बाद पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने उन्हें अपने कब्जे में ले लिया था।

भारत के कूटनीतिक दबाव के बाद आखिरकार पाकिस्तान को अभिनंदन वर्तमान को छोड़ना पड़ा था। लगभद 60 घंटों बाद विंग कमांडर अभिनंदन को वाघा बॉर्डर से रिहा किया गया था।

यह भी पढ़ें: पुलिसवाले ने फैशन के लिए नहीं बल्कि इसलिए चुना अभिनंदन लुक

यह भी पढ़ें: कांग्रेस की डिमांड- अभिनंदन की मूंछ घोषित हो ‘राष्ट्रीय मूंछ’

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)