9/11: इतिहास का सबसे बड़ा आतंकी हमला, एक पल में चली गई थी 3000 लोगों की जान

आज से ठीक 18 साल आतंकवादियों ने दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क अमेरिका पर एक ऐसा हमला किया था जिससे पूरी दुनिया हिल गई थी। 11 सितंबर 2001 को हुए उस हमले ने ऐसी तबाही मचाई थी कि उस मंजर को देखने वाले कभी भूल नहीं सकते।

इस आतंकी हमले में हवाई जहाज को मिसाइल के तौर पर इस्तेमाल किया गया था। इस आतंकी हमले में करीब 3 हजार लोग मारे गए ​थे। इस हमले से अमेरिका को आर्थिक स्तर पर भी बड़ा झटका दिया था।

कुछ इस तरह हुआ था आतंकी हमला-

11 सितंबर 2001 को संयुक्त राज्य अमेरिका पर आतंकी संगठन अलकायदा ने जो हमला किया था वह आत्मघाती हमलों की श्रृंखला थी। उसी दिन सवेरे 19 अलकायदा आतंकवादियों ने चार यात्री विमानों का अपहरण किया था।

अपहरणकर्ता ने जानबूझकर उनमें से दो विमानों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, न्यूयॉर्क शहर के ट्विन टॉवर्स के साथ टकरा दिया था जिससे विमानों पर सवार सभी लोगों के साथ-साथ भवनों के अंदर काम करने वाले अन्य अनेक लोग भी मारे गए थे।

दोनों बड़ी इमारतें 2 घंटे के अंदर ढह गई थी। यहां तक कि उनके पास वाली इमारतें भी तबाह हो गईं थी। अपहरणकर्ताओं ने तीसरे विमान को वाशिंगटन डीसी के बाहर आर्लिंगटन, वर्जीनिया में पेंटागन से टकरा दिया था।

यह हमला कितना भयानक था इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा स​कता है कि इस हमले में लगी आग को बुझाने में लगभग 100 दिन का समय लगा था।

 

यह भी पढ़ें: ओसामा के बेटे ने रचाई शादी, पढ़े पूरी खबर

यह भी पढ़ें: चलिये उस शहर जो कभी नहीं सोता, जागता रहता है दिन-रात!

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)